EXCLUSIVE : सभी कार्यरत सरकारी डॉक्टरों के लिए ‘Diploma in community mental health’ कोर्स हुआ अनिवार्य

हर हाल में 31 दिसंबर 2020 तक ले लेना है यह प्रशिक्षण

 

तीन माह की अवधि में 30 घंटे का प्रशिक्षण सेल्फ प्लेसड ई लर्निंग में पूरा कर परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद मिलेगी डिप्लोमा की उपाधि

स्नेह लता

लखनऊ। भारत सरकार द्वारा गठित मानसिक स्वास्थ्य कोर ग्रुप समिति द्वारा सभी सरकारी चिकित्सकों को मनोरोग में डिप्लोमा ‘Diploma in community mental health’ का प्रशिक्षण लेना अनिवार्य कर दिया गया है। तीन माह की अवधि में 30 घंटे का प्रशिक्षण सेल्फ प्लेसड ई लर्निंग में पूरा करना है। इसके बाद ऑनलाइन परीक्षा का प्रावधान है। यह प्रशिक्षण सभी चिकित्सकों को हर हाल में 31 दिसंबर 2020 तक ले लेना है। यह प्रशिक्षण National Institute of Mental Health and Neuro-Sciences (NIMHANS)  बंगलुरू द्वारा आयोजित किया जा रहा है।

इस बारे में उत्तर प्रदेश सरकार ने एक आदेश जारी कर कहा है कि भारत सरकार द्वारा गठित मानसिक स्वास्थ्य कोर ग्रुप समिति द्वारा की गयी सिफारिश के आधार पर इसे सभी सरकारी चिकित्सकों के लिए अनिवार्य किया गया है। कोर्स के प्रशिक्षण के लिए  चिकित्सक संस्थान की वेबसाइट  nimhansdigitalacademy.in पर जाकर Diploma in community mental health के लिए स्वयं का रजिस्ट्रेशन करायेंगे, तथा अपना नाम, वरिष्ठता क्रमांक, आधार नंबर, मोबाइल नंबर तथा कोर्स में रजिस्ट्रेशन के उपरान्त प्राप्त रजिस्ट्रेशन नंबर राज्य स्वास्थ्य प्रकोष्ठ उत्तर प्रदेश की ई मेल आईडी statenmhp.up@gmail.com पर उपलब्ध करना सुनिश्चित करेंगे।

पत्र में कहा गया है कि डिप्लोमा कोर्स की 30 घण्टे की अवधि पूरी होने के बाद ऑनलाइन परीक्षा उत्तीर्ण करनी होगी। इसके बाद संस्थान की ओर से Diploma in community mental health की उपाधि प्रदान की जायेगी। यह प्रशिक्षण पूर्णतः निःशुल्क है।

पत्र के अनुसार चिकित्सक इस सम्बन्ध में कोई भी जानकारी संस्थान की वेबसाइट पर या राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम के राज्य नोडल अधिकारी डॉ सुनील पाण्डेय से मोबाइल फोन पर ले सकते हैं।