कोविड योद्धाओं का 50 लाख का बीमा का आदेश जून में हो चुका समाप्‍त!

-नये स्‍वास्‍थ्‍य महानिदेशक को बधाई देने पहुंचे राज्‍य कर्मचारी संयुक्‍त परिषद के प्रतिनिधिमंडल ने उठाया मुद्दा

-महानिदेशक डॉ नेगी ने जतायी सहमति, अग्रिम कार्यवाही का दिया आश्‍वासन

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद उत्तर प्रदेश ने मांग की है कि‍ वैश्विक महामारी कोविड-19 में कार्य कर रहे स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों व अधिकारियों को प्रधानमंत्री बीमा योजना के अंतर्गत दिए जाने वाले लाभ के आदेश की समाप्त हो चुकी अवधि को बढ़ाया जाए ताकि भीषण रूप से चल रहे कोरोना काल में शहीद हो रहे स्वास्थ्य कर्मियों को बीमा का लाभ मिल सके। परिषद का एक कर्मचारी प्रतिनिधिमंडल आज सोमवार को नए स्वास्थ्य महानिदेशक डॉ डीएस नेगी को शुभकामनाएं देने के लिए गया था इसी दौरान यह मांग उठाई गई।

महामंत्री वीके राय ने बताया कि महानिदेशक ने इस पर सहमति व्यक्त करते हुए अध्यक्ष संजीव पांडे के नेतृत्व में गए प्रतिनिधिमंडल को अग्रिम कार्यवाही के लिए आश्वस्त किया। वीके राय ने बताया कि वैश्विक महामारी में ड्यूटी कर रहे कर्मचारियों और अधिकारियों को प्रधानमंत्री बीमा योजना के अंतर्गत किसी जीवन हानि‍ की स्थिति में 50 लाख रुपए की धनराशि का बीमा किए जाने का शासनादेश जारी किया गया था यह शासनादेश 90 दिनों की अवधि के उपरांत बीते 28 जून 2020 को समाप्त हो गया है। उन्‍होंने बताया कि महानिदेशक से अनुरोध किया गया कि वर्तमान में अभी भी पूरे देश सहित प्रदेश में भी कोविड-19 की महामारी का प्रभाव निरंतर बढ़ रहा है, अधिकारियों, कर्मचारियों के शहीद होने के समाचार मिल रहे हैं। ऐसी स्थिति में शासनादेश के प्रभावी रहने की अवधि का बढ़ाया जाना आवश्यक है, जिससे ऐसे शहीदों के परिजनों को बीमा राशि मिलने में दिक्कत ना हो।

मिलने गए प्रतिनिधिमंडल में अध्यक्ष संजीव पांडे महामंत्री वीके राय के अलावा उपाध्यक्ष भानु प्रताप राय, ज्ञानेन्द्र कुमार मिश्र, शैलेन्द्र सिंह रावत, संगठन मंत्री अजय सिंह, चेतन सिंह अधिकारी, मनीष कुमार शुक्ला व शिव नारायण वर्मा आदि शामिल थे।