सीएमओ और सीएमएस को भी सप्‍ताह में तीन दिन मरीजों को देखना जरूरी

महानिदेशक ने जारी किये निर्देश, पिछले दिनों स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने दिया था संकेत

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार के स्वास्थ्य विभाग में अस्‍पतालों के प्रमुख/मुख्‍य चिकित्‍सा अधीक्षकों और सीएमओ कार्यालयों में प्रशासनिक पदों पर तैनात सभी चिकित्‍सा अधिकारियों को प्रशासनिक कार्यों के साथ सप्ताह में 3 दिन दो-दो घंटे ओपीडी में मरीजों को देखना भी अनिवार्य कर दिया है। इस बारे में महानिदेशक द्वारा सभी चिकित्सकों को पत्र जारी कर दिया गया है।

महानिदेशक डॉ पद्माकर सिंह के ओर से 5 अगस्‍त को सभी प्रमुख व मुख्‍य चिकित्‍सा अधीक्षकों, मुख्‍य चिकित्‍सा अधिका‍रियों, अपर मुख्‍य चिकित्‍सा अधिकारियों, उप मुख्‍य चिकित्‍सा अधिकारियों को जारी किये गए पत्र में कहा गया है कि प्रशासनिक पदों पर तैनात सभी डॉक्टर अपने पूर्व निर्धारित प्रशासनिक कार्यों के अतिरिक्त सप्ताह में कम से कम 3 दिन दो-दो घंटे ओपीडी में मरीजों को भी देखेंगे। इसके साथ ही प्रत्येक माह के अंत में पूरे महीने में ओपीडी में देखे गए मरीजों व अन्य कार्यों के साथ ही क्षेत्र भ्रमण की रिपोर्ट भी महानिदेशक को भेजना अनिवार्य कर दिया है।

आपको बता दें कि स्वास्थ्य मंत्री ने बीती 26 जुलाई को जॉन हापकिंस ब्लूमबर्ग स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ, यू0एस0ए0  और द बिल गेट्स एंड मिलिंडा फाउंडेशन के सहयोग से लखनऊ में आयोजित एक कार्यशाला में कहा भी था कि हम अभी भी 40-50 वर्ष पुरानी व्यवस्था पर काम कर रहे हैं। हमारे पास योग्य डॉक्टर्स और स्वास्थ्यकर्मियों की जो संख्या है, उनमें से कई लोगों से प्रशासनिक आदि कार्य कराया जा रहा है। हमें सिस्टम को सुदृढ करने की अस्थाई नहीं, बल्कि स्थायी व्यवस्था बनानी है।