Wednesday , August 17 2022

राज्‍य महिला आयोग की अध्‍यक्ष पहुंची क्‍वीनमैरी, दो घंटे लिया जायजा

ओपीडी के शौचालय की सफाई व्‍यवस्‍था और सुधारने के दिये निर्देश

लखनऊ। राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष विमला बाथम ने अपनी टीम के साथ किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के क्वीन मेरी अस्पताल का सामान्य भ्रमण किया। दो घंटे के दौरे में विमला बाथम ने बहुत गहराई से चीजों का आकलन कर जानकारी ली। भ्रमण के दौरान उन्‍होंने शौचालयों की साफ-सफाई व्‍यवस्‍था को और सुधारने को कहा।

 

मिली जानकारी के अनुसार विमला बाथम गुरुवार को मध्‍यान्‍ह करीब 12 बजे अचानक क्‍वीनमैरी पहुंचीं तथा वहां दो घंटे बारीकी से एक-एक वार्ड में जाकर जायजा लिया। इस दौरान अस्‍पताल प्रशासन ने उन्‍हें जानकारी दी कि यह सिर्फ अस्‍पताल ही नहीं बल्कि शिक्षण संस्‍थान भी है इसलिए हम लोग पूरी जिम्‍मेदारी के साथ चिकित्‍सा एवं शिक्षा के कर्तव्‍यों का निर्वहन करते हैं क्‍योंकि यहां से शिक्षा प्राप्त करके डॉक्‍टर बनने वाले विद्यार्थी को अगर हम संस्‍कृति के साथ शिक्षा नहीं देंगे तो समाज को अच्‍छे गायनाकोलोजिस्‍ट कहां से मिलेंगे।

अस्‍पताल प्रशासन ने जानकारी दी कि क्‍वीनमैरी में पूरे प्रदेश के प्रसूति संबंधी जटिल केस यहां रेफर होते हैं जिनके उपचार का हरसंभव ध्‍यान दिया जाता है। यह भी बताया गया कि हालांकि इस बारे में यह जागरूकता फैलाने की जरूरत है कि लोग अगर गर्भावस्‍था से ही महिला का ध्‍यान रखें, उसकी जांच समय-समय पर करायें, प्रसव के लिए ऐनवक्‍त का इंतजार न करें, समय से अस्‍पताल पहुंचें तो बहुत सारी जटिलता से बच सकते हैं। इस अवसर पर राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष विमला बाथम ने मरीजों का हालचाल लिया एवं मरीजों को मिलने वाली सुविधा के बारे में जानकारी प्राप्त की। इस भ्रमण के दौरान राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष अस्पताल प्रशासन की कार्यप्रणाली से संतुष्ट नजर आईं तथा अस्पताल के शौचालयों की साफ-सफाई की व्यवस्था को और अधिक सुदृढ़ किए जाने का परामर्श दिया। इस बारे में क्‍वीनमैरी प्रशासन ने बताया कि लगभग डेढ़ बजे की स्थिति को अध्‍यक्ष द्वारा देखा गया, चूंकि ओपीडी में काफी भीड़ होती है, इसलिए तब तक गंदगी और बढ़ गयी थी, लेकिन ऐसी स्थिति न हो इसलिए इसे और सुधारा जायेगा।

 

इस अवसर पर चिकित्सा विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो एमएलबी भट्ट, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक प्रो एसएन संखवार, अधिष्ठाता चिकित्सा संकाय एवं विभागाध्यक्ष, प्रसूति एवं स्त्री रोग प्रो विनीता दास एवं चिकित्सा अधीक्षक, क्वीन मेरी अस्पताल प्रो एसपी जैसवार मुख्य रूप से मौजूद रहीं।