अलविदा लखनऊ, अब अगले साल भुवनेश्‍वर में मिलेंगे

लखनऊ में सम्‍पन्‍न प्‍लास्टिक सर्जन्‍स की कॉन्‍फ्रेंस ऐप्‍सीकॉन-2018 का समापन

 

लखनऊ। एसोसिएशन ऑफ प्‍लास्टिक सर्जन्‍स ऑफ इंडिया की वार्षिक कॉन्‍फ्रेंस ऐप्‍सीकॉन-2018 का आज समापन हो गया। अंतिम दिन प्रातःकाल कोज़ीकोड (कालीकट) की प्रो० शीजा राजन ने चिकित्सा प्रशासन व चिकित्सा शिक्षा में मूलभूत सुधार हेतु अपने सुविचार रखें। अगले साल की कॉन्‍फ्रेंस दिसम्‍बर 2019 में ओडीशा की राजधानी भुवनेश्‍वर में आयोजित की जायेगी।

 

यह जानकारी कोषाध्‍यक्ष डॉ वैभव खन्‍ना ने देते हुए बताया कि प्रो राजन ने स्‍पष्‍ट कहा कि शिक्षा के पुराने तरीकों को बदलने की जरूरत है। प्रो राजन ने कहा कि मौजूदा समय में आवश्‍यकता इस बात की है कि पढ़ाई के दौरान ही विद्यार्थी को व्‍यावसायिक शिक्षा दी जानी चाहिये। उन्‍होंने कहा कि ऐसा करने से विद्यार्थी का जहां शैक्षिक विकास होगा वहीं उसके अंदर सामाजिक जिम्‍मेदारी को भी विकसित किया जा सकेगा।

 

इसके अलावा आयोजन समिति के सचिव डॉ० राज कुमार मिश्रा ने कार्यक्रम के समापन अवसर पर बताया कि इस 5 दिवसीय कांफ्रेंस में देश-विदेश के 750 से भी अधिक प्लास्टिक सर्जरी विशेषज्ञों ने 1000 से भी अधिक शोध-पत्र प्रस्तुत किये।

 

आयोजन समिति के अध्यक्ष डॉ० सुरजीत भट्टाचार्य ने कांफ्रेंस में प्रतिभाग करने आये सभी प्रतिनिधियों को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए अत्यंत संतोष व्यक्त किया कि इस अत्यंत सफल आयोजन से सभी का अपार ज्ञान वर्धन हुआ।

 

अगली ऐप्‍सीकॉन-2019 ओडिशा की राजधानी भुवनेश्वर में माह दिसंबर 2019 में प्रस्तावित है जिसकी अध्यक्षता मुंबई के वरिष्ठ प्लास्टिक सर्जन डॉ० अमरेश बलियारसिंघ करेंगे।