भाजपा ने कहा, हार सुनिश्चित देख मायावती ने मैदान छोड़ा

‘सजग चौकीदार देख अली बाबा चालीस चोर गिरोहमें घबराहट’

लखनऊ।  भारतीय जनता पार्टी ने कहा है कि देश और प्रदेश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सजग सरकार है, इसलिए अपराध, भ्रष्टाचार, परिवारवाद, भाई-भतीजावाद, आतंकवाद, अलगाववाद व सांप्रदायिकता को संरक्षण देने वाले विपक्ष का खेमा यह मान चुका है कि 2019 के लोकसभा चुनाव में उनकी दाल नहीं गलने वाली है। बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती के लोकसभा चुनाव न लड़ने की घोषणा पर प्रतिक्रिया पर पार्टी ने कहा कि जनता द्वारा मोदी के समर्थन में स्वयं को गर्व से चौकीदार कहने से अपनी सुनिश्चित हार देखते हुये विपक्ष अब देश की ईमानदार जनता और चौकीदार पर अपमानजनक तंज कसते है तथा चुनाव मैदान छोड़कर भागते हैं।

 

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता हरीशचंद्र श्रीवास्तव ने कहा कि बसपा सुप्रीमो मायावती चार बार मुख्यमंत्री रही हैं और अनुभवी नेता हैं, इसलिए सम्भवतः वो इस निष्कर्ष पर पहुंच चुकी हैं कि चुनाव में उनकी स्वयं की हार भी सुनिश्चित है। सुनिश्चित हार को देखकर अवैध रूप से करोड़ों रुपए की संपत्ति अर्जित करने के मामले की अभियुक्त मायावती सहित विपक्षी दलों में घबराहट है। इसलिए वे न केवल प्रधानमंत्री मोदी पर व्यक्तिगत आक्षेप लगा रहे हैं, बल्कि सम्मानित जनता के लोकतांत्रिक अधिकार व विवेक को भी अपमानित कर रहे हैं।

हरीशचंद्र श्रीवास्तव

हरीशचंद्र ने कहा कि देश के सजग चौकीदार मोदी और प्रदेश के चौकीदार योगी के सुशासन व भ्रष्टाचारमुक्त सरकार, जनसशक्तिकरण की नीतियों और लोकसमृद्धि की योजनाओं के कारण अब जनता अपराध व भ्रष्टाचार को संरक्षण देने वाले उस सपा, बसपा, कांग्रेस व विपक्षी दलों व उनके नेताओं को अवसर नहीं देने वाली, जो देश में मजबूर सरकार बनवाकर अपने भ्रष्टाचार के महल बनवाने और जनशोषण के हथियार को पुनः हासिल करने का मंसूबा पाले हुये हैं।

 

 

उन्होंने कहा कि एक ओर जहां प्रधानमंत्री द्वारा खुद को देश का चौकीदार कहने के बाद देश का गरीब, वंचित, दलित-पिछड़ा, किसान, नौजवान, महिला, वंचित, डॉक्टर, इंजीनियर, वकील सहित सभी वर्गों की जनता ने स्वयं को गर्व से चौकीदार कहना शुरू कर दिया है, वहीं नकारात्मक राजनीति करने वाला विपक्ष चौकीदारों का अपमान करते हुये जनता की ईमानदारी पर सवाल उठा रहा है। देश की सम्मानित जनता ने मोदी सरकार द्वारा पांच साल में सशक्त भारत समृद्ध भारत का साकार करते हुये देखा है और फिर से देश में मोदी जी के नेतृत्व में प्रचंड बहुमत वाली भाजपा नीत एनडीए सरकार बनाने का बीड़ा उठाया है।