Sunday , December 4 2022

टीबी के प्रति जागरूक करने का नायाब तरीका

लखनऊ के डीटीओ ने सावन के प्रथम सोमवार को भंडारे में आये भक्‍तों से की भंडारे के साथ टीबी की बात

लखनऊ। जिला क्षय रोग अधिकारी डीटीओ ने टीबी के खिलाफ लोगों को जागरूक करने के क्रम में नायाब तरीका अपनाते हुए आज सावन के प्रथम सोमवार को शिव भक्तों को भंडारे के दौरान जानकारी देकर जागरूक किया। डीटीओ की यह कोशिश सफल रही, क्‍योंकि इस दौरान करीब 1150 लोगों को टीबी की जानकारी देकर उससे बचाव और होने वाले खतरे के बारे में बताकर जागरूक किया गया।

‘भंडारे के साथ टीबी की बात’ का आयोजन आज जिला क्षय रोग केंद्र राजेंद्र नगर लखनऊ पर सावन के प्रथम सोमवार पर भंडारे का आयोजन किया गया भंडारे का शुभारंभ डॉ बी के सिंह डीटीओ लखनऊ द्वारा किया गया। भंडारे में आने वाले श्रद्धालुओं को क्षय रोग की जानकारी भी दी गई तथा टीबी पर सक्रिय सहयोग के साथ अपने निजी व्यक्तिगत कार्यों में भी शामिल करने की अपील के साथ भोजन प्रसाद का वितरण किया गया।

कार्यक्रम संयोजक ने बताया कि भंडारे के दौरान करीब 1150 से अधिक श्रद्धालुओं को क्षय रोग से संबंधित जानकारी दी गई। कार्यक्रम के दौरान क्षेत्र के प्रतिष्ठित परिवार के लोगों ने टीबी की जानकारी ली तथा कार्यक्रम में प्रसाद ग्रहण किया। ‘आओ मिलकर कर लें बात, 2 हफ्ते की खांसी दो बलगम की जांच’ जैसे स्‍लोगन को सुनाकर अपील की गयी। डॉ बीके सिंह ने बताया कि क्षयरोग मुक्त शहर बनाने के लिए कार्यक्रम स्तर से जनपद में आयोजित हो रहे विभिन्न धार्मिक कार्यक्रमों की जानकारी देने की योजना बनाई जा रही है। भविष्य में एफबीओ (फेथ बेस्ड आर्गेनाईजेसन) के मुखियाओं के माध्यम से लोगों को क्षयरोग के प्रति जागरूक किया जा सके। आज के कार्यक्रम मे आरटीपीएमयू लखनऊ की टीम ने भी प्रतिभाग किया।