एससी-एसटी एक्‍ट के विरोध में भारत बंद का असर दिखना शुरू, आगजनी, ट्रेनें रोकी गयीं

बिहार में कई जगह सड़क मार्ग अवरुद्ध किया गया, उत्‍तर प्रदेश, बिहार, हरियाणा, मध्‍य प्रदेश में असर दिखना शुरू

एससी-एसटी एक्ट का विरोध कर रहे अनारक्षित वर्ग ने आज (6 सितंबर) को  भारत बंद का ऐलान किया है. बंद को लेकर सरकारें अलर्ट पर है।  उत्‍तर प्रदेश, बिहार, हरियाणा, मध्‍य प्रदेश में इसका असर दिखना शुरू हो गया है।

खबर है कि सवर्ण सेना बिहार के कई जिलों में सुबह से ही सड़कों पर उतरी है और नारेबाजी-प्रदर्शन जारी है। राज्‍य में कई स्‍थानों पर ट्रेनें रोकी गयी हैं। मध्‍य प्रदेश और बिहार में विरोध का असर दिखने भी लगा है।  विरोध प्रदर्शन से कई जगहों पर सड़क जाम और यातायात सुबह से ही प्रभावित है। सड़कों पर गाड़ियों की लंबी कतार देखी जा रही है। ग्‍वालियर में चप्‍पे-चप्‍पे पर पुलिस तैनात है। मध्‍य प्रदेश में आगजनी की घटनाएं शुरु हो गयी हैं। पहले से ही पेट्रोल पम्‍प मालिकों ने पेट्रोल पम्‍प बंद करने का ऐलान कर रखा है। पेट्रोल पंप संचालक एसोसिएशन के अध्यक्ष अजय सिंह ने साफ किया कि सुबह 10 बजे शाम 4 बजे तक पेट्रोल पंप बंद रहेंगे, ये निर्णय बंद के दौरान अप्रिय घटना से बचने के लिए ये निर्णय लिया गया है.

 

राजपूत करणी सेना की एंट्री से प्रशासन और पुलिस दोनों सकते में हैं. ग्वालियर में हुए स्वाभिमान सम्मेलन में कथा वाचक देवकीनंदन ठाकुर की हुंकार और राजपूत करणी सेना की खुली चुनौतियों से सवर्ण आंदोलन को और हवा मिली है. यही अफसरों को परेशान किए हुए है. इसके बाद ही अशोकनगर, गुना, ग्वालियर, दतिया, मुरैना, शिवपुरी, श्योपुर, छतरपुर और भिंड में 11 सितंबर तक के लिए धारा-144 लगा दी गई है.

प्रतीकात्ममक फोटो

पूरे प्रदेश में दोपहर तीन बजे तक के लिए धारा 144 लागू कर दी गई है. इसके साथ ही बिना अनुमति धरना प्रदर्शन, रैली और समूह में एकत्र होने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है. मध्य प्रदेश में सपाक्स, करणी सेना और ब्राह्मण संगठन के साथ तमाम सवर्ण संगठनों ने भारत बंद का समर्थन किया हैं.

 

बिहार में भी हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया है. जहानाबाद में भारत बंद के दौरान बंद समर्थकों ने अरवल मोड़ के समीप एनएच-83 और एनएच-110 को जाम कर दिया है और विरोध प्रदर्शन कर नारेबाजी कर रहे हैं।

मीडिया रिपोर्टस बता रही हैं कि वैशाली के लालगंज में एससी-एसटी एक्ट के विरोध में सवर्ण मोर्चा के भारत बंद का खासा असर देखने को मिल रहा है। आक्रोशित लोगों ने कई जगह पर मुख्य सड़कों को जाम कर दिया है। प्रदर्शनकारी सड़क पर आगजनी कर हंगामा कर रहे हैं। हाजीपुर-लालगंज मार्ग पर वाहनों का परिचालन पूरी तरह से ठप है। लखीसराय में एससी-एसटी एक्ट के खिलाफ भारत बंद को लेकर सवर्ण समाज के लोग सड़क पर उतरने लगे हैं। जिले के बड़हिया नगर में इंदुपुर के नजदीक मुख्य सड़क पटना-मुंगेर एनएच 80 को जाम कर दिया गया है।

 

लखीसराय में सवर्णों के आंदोलन ने बड़ा रूप ले लिया है। जिले के सभी राष्ट्रीय और राजकीय पथों को जाम कर दिया गया है। बाजार भी बंद कराए जा रहे हैं। जगह जद सड़कों पर टायर जला दिया गया है। ट्रक और ट्रैक्टर खड़ी कर देने के कारण बाइक, साइकिल सवार यहां तक कि पैदल निकलना भी मुश्किल हो रहा है। बड़हिया, लखीसराय के विद्यापीठ चौक, हलसी, सूर्यगढ़ा इलाके में कार्यकर्ता सड़कों पर हैं। सभी लोग सवर्ण सेना जिंदाबाद के नारे लगा रहे हैं।

 

किऊल-गया रेल खंड को एएसी-एसटी एक्ट के विरोध में किया जाम है। नालंदा जिले में भी भारत बंद का असर दिख रहा है। सवर्ण शक्ति मंच ने रांची रोड को जाम कर दिया है। सड़क पर आगजनी की है। भारत बंद की सफलता को लेकर लोग सड़क पर उतरे हैं। एससी एसटी एक्ट का विरोध कर रहे  हैं।

 

मधुबनी जिले के रहिका प्रखंड में एससी-एसटी एक्ट संशोधन के खिलाफ भारत बंद का आह्वान करते हुए सवर्ण समाज के लोगों ने रहिका मु्ख्य पथ को जाम कर दिया है और नारेबाजी कर रहे हैं। वहीं, मधुबनी में सेल्सटैक्स चौक को भी बांस-बल्ले से घेर वहां टायर जलाकर लोग प्रदर्शन कर रहे हैं। यातायात पूरी तरह अवरूद्ध है।