Sunday , December 5 2021

लखनऊ में जीका वायरस से ग्रस्‍त एक और रोगी पाया गया, कुल संख्‍या तीन पहुंची

-निरोधात्‍मक कार्रवाई जारी, टीम ने किया दौरा, डेंगू के भी 25 रोगियों का पता चला

सेहत टाइम्‍स

लखनऊ। राजधानी लखनऊ में एक और जीका वायरस के रोगी का पता चला है, इस तरह से लखनऊ में जीका वायरस से ग्रस्‍त रोगियों की कुल संख्‍या तीन हो गयी है। 12 नवंबर को लाल कुआं क्षेत्र में एक जीका वायरस रोगी की पुष्टि केजीएमयू द्वारा की गई, इसके बाद तुरंत ही मुख्य चिकित्सा अधिकारी लखनऊ डॉ मनोज अग्रवाल द्वारा स्थानीय स्वास्थ्य इकाई नगरीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र रेडक्रॉस के अधीक्षक को निर्देशित किया कि नगर मलेरिया इकाई एवं नगर निगम से समन्वय स्थापित कर तत्काल निरोधात्मक कार्रवाई सुनिश्चित करें। इस बीच डेंगू के मरीजों का मिलना भी जारी है, 25 और डेंगू के मरीजों का पता चला है।

इस क्रम में अधीक्षक रेड क्रॉस डॉ रितेश द्विवेदी द्वारा नगर मलेरिया इकाई एवं नगर निगम द्वारा एंटी लार्वा एवं फॉगिंग का कार्य संपादित कराया गया और अपनी टीम के माध्यम से लक्षण युक्त व्यक्तियों को दवा वितरण का कार्य किया गया। साथ ही क्षेत्र में स्वास्थ्य शिक्षा प्रदान करने के साथ ही मरीज को आइसोलेट एवं मच्छरदानी का प्रयोग करने के लिए निर्देशित कर दिया गया। निरोधात्मक कार्रवाई के समय मलेरिया इंस्पेक्टर संजय यादव, नगर निगम से संजीव कुमार, आशा कार्यकत्री अमिता एवं नीरजा उपस्थिति थीं।

इस बीच 11 नवम्‍बर को सम्भल खेडा एवं फूलबाग में मरीजों के घर एवं आस-पास के घरों का निरीक्षण डा0 मिलिन्द वर्द्धन, जिला सर्विलान्स अधिकारी, डा0 के0पी0 त्रिपाठी, उप मुख्य चिकित्साधिकारी, डा0 एस0के0 रावत, नगर स्वास्थ्य अधिकारी, योगेश चन्द्र रघुवंशी, जिला स्वास्थ्य शिक्षा एवं सूचना अधिकारी, लखनऊ एवं स्थानीय मलेरिया निरीक्षकों के साथ किया गया। सम्बन्धित क्षेत्रों में नग0सामु0स्वा0केन्द्र एन0के0 रोड एवं चन्दरनगर, आलमबाग, लखनऊ की टीमों द्वारा क्षेत्रों के लगभग 945 घरों में 4679 व्यक्तियों का सर्वेक्षण कराया गया तथा तथा मरीजों के करीबी एवं कार्यस्थल में सम्पर्क में आये लगभग 106 व्यक्तियों व्यक्तियों के सैम्पल लेकर के0जी0एम0यू0 जांच के लिए भेजा गया। इसके अतिरिक्त क्षेत्र में सोर्स रिडक्शन के अन्तर्गत नगर मलेरिया इकाई की टीम द्वारा एण्टी लार्वा का छिड़काव तथा नगर निगम की टीम द्वारा फांगिग का कार्य कराया गया। सम्बन्धित रोगी के घर के आस-पास के घरों का भी निरीक्षण किया गया तथा लक्षणयुक्त मरीजों को औषधियां वितरित की गयी।

जनपद में डेंगू रोग के प्रभावी नियन्त्रण हेतु मुख्य चिकित्साधिकारी, लखनऊ के निर्देशानुसार नगर मलेरिया इकाई एवं जिला मलेरिया अधिकारी की टीम द्वारा खरिका-द्वितीय, विधावती द्वितीय, राजाजीपुरम, बालागंज, न्यू हैदरगंज, इन्दिरानगर, इस्माइलगंज, त्रिवेणीनगर, फैजुल्लागंज वार्ड के आस-पास के क्षेत्रों का भ्रमण किया गया। भ्रमण के दौरान क्षेत्रीय जनता को घर के आस-पास पानी जमा न होने, पानी से भरे हुए बर्तनों एवं टंकि‍यों को ढक कर रखने, कुछ समय अन्तराल पर कूलर को खाली करके साफ कपड़े से पोछ कर सूखा एवं साफ करने के बाद ही पुनः प्रयोग में लाने, पूरी बाह के कपडे पहनने, बच्चों को घर से बाहर न निकलने एवं मच्छर रोधी क्रीम लगाने एवं मच्छरदानी में रहने तथा डेंगू एवं मच्छर जनित रोगो से बचाव के लिए ‘‘क्या करें, क्या न करें’’ सम्बन्धी स्वास्थ्य शिक्षा प्रदान की गयी।

आज जनपद के अलीगंज, इन्दिरानगर, एन0के0 रोड, चिनहट, सिल्वर जुबली, गोसाईगंज, गुडम्बा, सरोजनीनगर, महानगर, आदि क्षेत्र में कुल 25 डेंगू धनात्मक रोगी पाये गये।  आज कुल 4035 घरों तथा विभिन्न मच्छरजनित स्थितियों का सर्वेक्षण किया गया और कुल 11 घरों में मच्छरजनित स्थितियां पाये जाने पर नोटिस जारी किया गया।

जीका वायरस के लक्षण


जीका वायरस से ग्रस्‍त होने पर काफी संख्‍या में ऐसे लोग होते हैं जिनमें संक्रमण के कोई लक्षण नहीं दिखते हैं। जबकि जबकि कुछ लोगों में बहुत हल्के लक्षण दिख सकते हैं। संक्रमण का शक होने पर डॉक्टर ब्लड या यूरिन टेस्ट करवाने का सुझाव दे सकते हैं, ताकि जीका वायरस संक्रमण की पहचान हो सके. इसके कुछ प्रमुख लक्षण

बुखार
चकत्ते
सिरदर्द
जोड़ों में दर्द
कंजेक्टिवाइटिस यानी आंखें लाल होना
मांसपेशियों में दर्द

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

16 + 1 =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.