लखनऊ में अगले हफ्ते से कोविड मरीजों के लिए 450 और बेड

-नये मुख्‍य चिकित्‍सा अधिकारी ने किया दावा, तैयारी चल रही, निजी व सरकारी अस्‍पतालों, दोनों में बढ़ेंगे बेड

-कोरोना संक्रमण के तेज होते हमले से बढ़ती मरीजों की संख्‍या बनी हुई है चुनौती

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। कोरोना संक्रमण के तेजी से फैलने से मरीजों की संख्‍या में हो रही बेतहाशा वृद्धि ने राजधानी लखनऊ में मौजूदा समय में उपलब्‍ध कोविड अस्‍पतालों में भर्ती का संकट उत्‍पन्‍न कर रखा है, इसी संकट को हल्‍का करने के लिए नये मुख्‍य चिकित्‍सा अधिकारी डॉ आरपी सिंह ने 450 बेड और बढ़ाने की तैयारी की है, उनका कहना है कि इन बढ़े हुए बेड्स पर अगले सप्‍ताह से भर्ती शुरू हो जायेगी।

कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या और अस्पतालों में भर्ती संकट को देखते हुए, स्वास्थ्य विभाग ने राजधानी के विभिन्न अस्पतालों में 450 बेड बढ़ाने की योजना तैयार की है। ये बिस्तर निजी व सरकारी कोविड अस्पतालों, दोनो में ही बढ़ेंगे। बढऩे वाले बिस्तरों में सामान्य और वेंटिलेटर बेड शामिल हैं।

आपको बता दें कि राजधानी में लोकबंधु संयुक्‍त चिकित्‍सालय, राम सागर मिश्र चिकित्‍सालय, एरा मेडिकल कॉलेज, इंट्रीगल चिकित्‍सालय समेत कई सरकारी और निजी अस्पतालों में अभी कोरोना मरीजों को भर्ती करके इलाज दिया जा रहा है। मरीजों की संख्या में रोजाना बेतहाशा बढ़ोतरी हो रही है। अत्यधिक मरीजों की संख्या की वजह से सरकारी अस्पतालों में अधिकांश बिस्तर फुल हो चुके हैं। रोजाना डिस्चार्ज के बाद खाली होने वाले बिस्तरों पर ही नये रोगियों की भर्ती हो रही है। नवनियुक्त सीएमओ डॉ आरपी सिंह ने मरीजों की भर्ती संकट टालने के लिए अधिकारियों के साथ बैठक करके करीब 450 बेड बढ़ाए जाने का दावा किया है।

सीएमओ डॉ आरपी सिंह ने बताया कि अभी जिन अस्पतालों में मरीजों को भर्ती किया जा रहा है, उन अस्पतालों के साथ ही एक कुछ अन्य सरकारी और निजी अस्पतालों को भी चिन्हित करके बेड बढ़ाने और मरीजों को भर्ती करके इलाज देने की व्यवस्था करीब-करीब पूरी हो गई है। अस्पतालों में कोरोना के सामान्य 400 और वेंटिलेटर के 50 बेड बढ़ाए जाएंगे।