पहले दिन 31,100 लोगों को लगेगी कोविड वैक्‍सीन, लाभार्थियों की सूची दिल्‍ली से ही आयेगी

-वैक्‍सीनेशन का पहला ट्रायल होने के कारण केंद्र के एक ही बूथ पर लगेगा टीका

-16 जनवरी से शुरू हो रहा है दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान, मोदी करेंगे टीका लॉन्‍च

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। सदी की सबसे बड़ी वैश्विक महामारी कोविड-19 के विश्‍व में सबसे बड़े वैक्‍सीनेशन अभियान की शुरुआत भारत में 16 जनवरी से होने जा रही है। इसकी पूरी मॉनीटरिंग केंद्र कर रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आधिकारिक रूप से कोरोना वैक्सीन को लॉन्च करेंगे। उत्‍तर प्रदेश में भी इसकी तैयारियां पूरी हो चुकी हैं, प्रथम चरण में प्रदेश के 311 केन्द्रों पर वैक्सीन लगायी जायेगी। प्रथम चरण में फ्रंट लाइनर्स को वैक्‍सीन लगायी जा रही है, चूंकि पहली बार यह अभियान शुरू होने जा रहा है इसलिए पहले दिन केंद्र केवल एक ही बूथ पर कार्य होगा इसलिए 100 फ्रंटलाइनर्स (डॉक्‍टर्स, मेडिकल स्‍टाफ आदि) को वैक्‍सीन का पहला डोज दिया जायेगा, इन लोगों को 28 दिन बाद वैक्‍सीन का दूसरा डोज दिया जायेगा। इस प्रकार पहले दिन 31,100 लोगों को वैक्‍सीन लगेगी।

सभी के मन में यह प्रश्‍न कौंध रहा है कि पहले दिन किन-किन लोगों को वैक्‍सीन लगेगी, लेकिन इस पर से पर्दा 15 जनवरी को हटने की उम्‍मीद है। दरअसल आधिकारिक सूत्र बता रहे हैं कि पहले चरण में जिन फ्रंटलाइनर्स को लगायी जानी है, उनकी सूची पहले ही केंद्र सरकार को भेजी जा चुकी है। अब किसे कब वैक्‍सीन लगेगी इस बारे में केंद्र से ही सूची आयेगी। यही नहीं जिस व्‍यक्ति को वैक्‍सीन लगनी है उसे भी इसकी सूचना एसएमएस के माध्‍यम से दे दी जायेगी कि उसे अमुक दिन अमुक स्‍थान पर वैक्‍सीन लगायी जायेगी।  

इस बीच अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने भी बताया है कि वैक्सीन की लगभग पौने 11 लाख डोज अब तक प्राप्त हो चुकी हैं और ये सभी जनपदों में आज शाम तक पहुंच जायेंगी। उन्होंने बताया वैक्सीनेशन के लिए स्वास्थ्य कर्मियों का प्रशिक्षण पूरा हो गया है। प्रदेश में वैक्सीनेशन का सत्र प्रातः 9 बजे से सांय 5 बजे तक चलेगा। उन्होंने बताया कि भारत सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन एवं क्रम के अनुसार कोविड वैक्सीनेशन का कार्य संचालित किया जायेगा।

संजय गांधी पीजीआई में भी इस दिशा में सभी तैयारियां कर ली गई हैं। निदेशक डॉ आरके धीमन ने बताया कि पीजीआई में वैक्सीनेशन के लिए 18 बूथ पूरी तरह से तैयार है। क्योकि इस दिन वैक्सीनेशन लॉन्च है, इसलिए पहले दिन केवल एक ही बूथ पर वैक्सीनेशन कार्य होगा, जहां संस्थान के 100 स्वास्थ्यकर्मियों (चिकित्सक, स्टाफ नर्स, रोगी सहायक, सफाई कर्मचारी) को कोरोना वैक्सीन की पहली खुराक दी जाएगी। 28 दिनों के अंतराल पर उन्हें इसकी दूसरी खुराक दी जाएगी। संस्थान की टीकाकरण समिति ने कल उत्तर प्रदेश सरकार के चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना से मुलाकात की और उन्हें संस्थान की तैयारियों से अवगत कराया। उन्‍होंने बताया कि मंत्री ने भी संस्थान के कर्मचारियों को आश्वस्त किया कि उन्हें किसी प्रकार से भयभीत होने की आवश्यकता नहीं है। सभी स्वास्थ्य कर्मियों का क्रमानुसार वैक्सीनेशन कराया जाएगा।

किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के मीडिया प्रवक्‍ता डॉ सुधीर सिंह द्वारा दी गयी सूचना में बताया गया है कि पहले दिन केजीएमयू स्थित कलाम सेंटर में 100 पंजीकृत लाभार्थियों का वैक्‍सीनेशन किया जाएगा। इसकी सूची केजीएमयू की वेबसाइट पर 15 जनवरी को अपलोड कर दी जाएगी।