चिकित्सा क्षेत्र में निजी अस्पतालों की अहम भूमिका

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक नें आह्वान किया है कि सरकारें चिकित्सा क्षेत्र की जरूरतें अकेले नहीं पूरी कर सकती हैं, इसकी पूर्ति के लिए निजी क्षेत्र के अस्पतालों का योगदान महत्वपूर्ण है। श्री नाईक आज यहाँ गोमती नगर स्थित हेल्थ सिटी-ट्रॉमा सेंटर एंड स्पेशियलिटी हॉस्पिटल  के प्रथम स्थापना दिवस पर आयोजित समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में बोल रहे थे। उन्होनें कहा कि जिस तरह शिक्षा के क्षेत्र में निजी स्कूलों का महत्व है उसी प्रकार चिकित्सा के क्षेत्र में भी निजी क्षेत्र की अहम भूमिका है।

राज्यपाल नें कहा कि चिकित्सक, नर्स एवं अस्पताल के कर्मचारियों के कार्य-व्यवहार के दौरान उनके चेहरे पर मुस्कुराहट का भाव मरीज की परेशानी को काफी कम कर देता है। इस संबंध में उन्होनें अस्सी के दशक में हुई दुर्घटना का ज़िक्र करते हुए बताया कि किस तरह महाराष्ट्र में जीप से जाते समय ट्रक के साथ हुई टक्कर में वे घायल हो गए थे तथा उन्होनें छह माह तक इलाज कराया था। इस इलाज के दौरान उनको डॉक्टरों और कर्मचारियों के खुशमिजाज़ व्यवहार से कष्टों का अहसास ही नहीं हुआ।

राज्यपाल नें 100 बेड वाले हेल्थ सिटी हॉस्पिटल द्वारा साल भर में किये गए कार्यों की तुलना हनुमान जी के सूर्य को फल समझकर खाने के लिए भरी उड़ान से की। उन्होनें मंच पर आसीन प्रमुख सचिव सूचना नवनीत सहगल के पिछले दिनों हुए एक्सीडेंट के चलते दिल्ली में हुए इलाज के बाद यहाँ हेल्थ सिटी हॉस्पिटल में हो रही केयर की प्रशंसा की और श्री सहगल के पूर्ण स्वास्थ्य लाभ की कामना की।

राज्यपाल नें लखनऊ की तारीफ करते हुए कहा कि यहाँ की हवा, लोगों का व्यवहार और तहज़ीब वाली संस्कृति तारीफ के काबिल है, यहाँ हेल्थ-क्लब बनता जा रहा है। केजीएमयू, पीजीआई जैसे संस्थानों में न सिर्फ भारत बल्कि बाहरी देशों से भी लोग इलाज कराने आते हैं। राज्यपाल ने कहा कि लखनऊ मेडिकल टूरिज्म का सेंटर बन सकता है। इसमें हेल्थ सिटी अस्पताल व अन्य निजी अस्पताल अपना बहुमूल्य योगदान दे सकते हैं। राज्यपाल नें इस अवसर पर अस्पताल में स्थापित “मल्टी स्लाइस्ड सीटी स्कैन” मशीन का भी शुभारंभ किया।

समारोह में आये लोगों का स्वागत करते हुए अस्पताल के निदेशक डॉ. संदीप कपूर  ने अस्पताल की साल भर की उपलब्धियां गिनाईं। इस अवसर पर अच्छा कार्य करने वाले अस्पताल के कर्मचारियों को पुरस्कृत भी किया गया। जिन कर्मचारियों को पुरस्कृत किया गया उनमें नर्स गीता व तरन्नुम, हाउस कीपिंग स्टाफ – कलावती, गुड्डू, सावित्री, राजेश के अलावा अन्य कर्मचारियों में ऐना खरे, फरहत, आराधना, द्रवेन्द्र, रश्मि जोसफ, अरशद, कुलदीप शामिल थे। खेल के क्षेत्र में प्रतिभा दिखाने वाले डॉ. पुलकित सिंह व डॉ. तुलसी को सम्मानित किया गया।

समारोह के अंत में निदेशक डॉ. वैभव खन्ना नें आये हुए अतिथियों का धन्यवाद किया। समारोह में शामिल अन्य अतिथियों में कार्डियोलॉजिस्ट पद्मश्री प्रो. मंसूर हसन, प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा एके सिन्हा भी मंच पर उपस्थित थे। इस अवसर पर अस्पताल के निदेशक डॉ. संदीप गर्ग, डॉ. के.बी जैन, डॉ. सुनील बिसेन एवं अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ.केके सिंह भी मौजूद थे।