केजीएमयू के कुलपति सहित 1,68,834 और लोगों को लगी कोविड वैक्‍सीन

-लक्ष्‍य के सापेक्ष 74.43 प्रतिशत लोगों ने लगवाया टीका

ले.ज. डॉ बिपिन पुरी

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। उत्‍तर प्रदेश में आज 29 जनवरी को भी स्वास्थ्य कर्मियों को वैक्सीन लगाने का कार्य जारी रहा। आज 2,26,833 के सापेक्ष 1,68,834 स्वास्थ्य कर्मियों को वैक्सीन लगायी गयी। इस तरह प्रथम चरण के चौथे दिन 74.43 प्रतिशत लोगों को कोविड टीका लगाया गया।

शगुन सिंह

उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि स्वास्थ्य कर्मियों को 28 व 29 जनवरी को वैक्सीन लगाये जाने के बाद अब 4 व 5 फरवरी  को वैक्सीन लगाने का कार्य किया जायेगा। उन्होंने बताया कि 5 फरवरी से ही फ्रंट लाइन कर्मियों के वैक्सीनेशन का कार्य किया जायेगा। उन्‍होंने कहा कि स्वास्थ्य कर्मियों तथा फ्रंट लाइन कर्मियों को वैक्सीन की दोनों डोज 25 मार्च  तक लगाने का कार्य कर लिया जायेगा। इसके बाद 50 वर्ष से अधिक उम्र वाले व्यक्तियों को वैक्सीन लगाने का कार्य भारत सरकार के दिशा-निर्देशों के अनुसार किया जायेगा। उन्होंने सभी नागरिकों से अपील की है कि कोविड-19 के प्रोटोकाल का पालन अवश्य करें।

आज किंग जॉर्ज चिकित्‍सा विश्‍वविद्यालय में कुलपति ले.ज. डॉ बिपिन पुरी को भी वैक्‍सीन लगायी गयी। इसके अतिरिक्‍त अन्‍य स्‍वास्‍थ्‍य कर्मियों को भी कोविड वैक्‍सीन लगायी गयी। यहां के डीपीएमआर विभाग के वर्कशॉप की प्रभारी शगुन सिंह को भी वैक्‍सीन लगायी गयी। उन्‍होंने अपनी प्रति‍क्रिया में कहा कि भारत के बने कोविशील्‍ड टीके का पहला डोज उन्‍होंने लगवा लिया है। उन्‍होंने कहा कि स्‍वदेशी वैक्‍सीन की सफलता से अभिभूत हूं, मुझे भारतीय होने पर गर्व है। केजीएमयू में 1875 के सापेक्ष 1051 लोगों को वैक्‍सीन लगी।

ऊपर बायें से डॉ आलोक नाथ , डॉ एसके अग्रवाल, डॉ अरुण श्रीवास्‍तव, डॉ राहुल कठारिया तथा नीचे बायें से डॉ अंजू रानी तथा डॉ शशि श्रीवास्‍तव

कोरोना टीकाकरण के चौथे दिन आज संजय गांधी पीजीआई में प्रात: से ही स्टाफ जुटने लगा था। टीकाकरण कराने वालों में नर्सेज, टेक्नीशियन, प्रशासनिक अधिकारी, लाइब्रेरी स्टाफ व चिकित्सक शामिल थे। डॉ अमित गोयल के हवाले से खबर दी गयी है कि 750 के सापेक्ष 544 लोगों को आज टीका लगाया गया। टीकाकरण कराने वालों में डॉ शशि श्रीवास्तव, डॉ आलोक नाथ, डॉ एस के अग्रवाल, डॉ अंजू रानी, डॉ अरुण श्रीवास्‍तव, डॉ राहुल कठारिया सहित अन्‍य लोग शामिल थे।