लखनऊ में तीन आरपीएफ सिपाही समेत 10 नये रोगी कोरोना की गिरफ्त में

-ऐशबाग में एक और कोरोना संक्रमित की मौत

लखनऊ। राजधानी में शनिवार को तीन आरपीएफ सिपाहियों समेत 10 नये मरीजों की पुष्टि हुई वहीं, दूसरे दिन लगातार कोरोना पीडि़त की दूसरी मौत हो गयी। शुक्रवार को बलरामपुर चिकित्सालय के पूर्व निदेशक की मौत के बाद शनिवार को उसी इलाके ऐशबाग निवासी बुजुर्ग ने बलरामपुर अस्पताल में दम तोड़ दिया। सभी को अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है।

बलरामपुर अस्पताल में शनिवार सुबह ऐशबाग निवासी 60 वर्षीय मो.शफीक की मृत्यु हो गई है। मृतक को दो दिन पहले गुरुवार को बुखार व सांस लेने में तकलीफ की शिकायत पर भर्ती किया गया था। प्रोटोकॉल के तहत कोरोना जांच करायी गयी थी और शुक्रवार को संक्रमण की पुष्टि के बाद मरीज शफीक को अस्पताल के वार्ड 11 के आइसोलेशन में रखा गया था। ज्ञातव्य हो कि मृतक शफीक, ऐशबाग में उसी स्थान पर रहते थे जहां पर अस्पताल के पूर्व निदेशक डॉ. श्याम स्वरूप रहते थे जिनकी कोरोना संक्रमण की वजह से शुक्रवार को मृत्यु हो गई थी।

सीएमओ डॉ. नरेंद्र अग्रवाल ने बताया कि मृतक के परिजनों की कोरोना जांच के साथ संपर्क में आए अन्य लोगों की स्क्रीनिंग की जाएगी। इसके अलावा नये संक्रमित मरीजों में तीन आरपीएफ के जवान हैं, एक सिविल अस्पताल में भर्ती मरीज है, चरक हॉस्पिटल में कार्य करने वाला वार्ड  ब्‍वॉय भी कोरोना की चपेट में आ गया है। इसके अलावा चौपटियां, न्यू हैदराबाद व फूलबाग में भी एक मरीज में कोरोना की पुष्टि हुई। एक मऊ निवासी युवक भी संक्रमित पाया गया है। वह लोहिया संस्थान में पिता का इलाज कराने आया था। तीन दिन पहले उक्त मरीज के पिता में भी संक्रमण की पुष्टि हुई थी।