चुनावी वैतरणी पार लगाएगी होम्योपैथी

शुभम

लखनऊ। चुनावी समर में नेताओं की भाग-दौड़ जबरदस्त तरीके से बढ़ जाती है। आज यहां तो कल वहां, वोटरों के दरवाजे पर दस्तक, चुनावी सभाएं वगैरह-वगैरह, और इन सभी कामों में भाषण का एक विशेष स्थान है। जनता के बीच भाषणों में धुआंधार बोलना, बोलकर रिझाना ऐसे में गला बैठना बहुत आम बात है। गले की ऐसी ही समस्या के तात्कालिक समाधान के लिए होम्योपैथी की मीठी गोलियां नेताओं सफर बेरोकटोक जारी रख सकती है।
होम्योपैथिक विशेषज्ञ डॉ अनुरुद्ध वर्मा बताते हैं कि भाषण देते देते यदि गला बैठ गया हो तो भाषण से दो घंटे पहले कोका क्यू की पांच-पांच बूंद आधे-आधे घंटे में लेने से गला साफ हो जायेगा तथा आवाज पूरी तरह खुल जायेगी। डॉ वर्मा ने बताया कि अधिक बोलने से अक्सर स्वर यन्त्र की कार्य-शक्ति कम हो जाती है और कई बार बोलते समय स्वर भंग हो जाता है, आवाज भारी हो जाती है। ऐसे में ओरम ट्रिफाईलम 30 की कुछ खुराके आपकी आवाज को ठीक करने में फायदेमंद हो सकती हैं भाषण के दौरान आवाज फसने लगे तो अर्जेन्ट मेट 30 की कुछ खुराके आवाज को ठीक कर सकती हैं। भाषण के पश्चात यदि आवाज भारी हो जाए तो कास्टिकम 30 औषधि आपकी आवाज को पहले जैसा कर सकती हैं।
आत्मविश्वास में कमी
डॉ अनुरुद्ध वर्मा बताते हैं कि प्रत्याशी कल की चिन्ता करते हैं कि कल कहां से प्रचार शुरू करें, वहां रिसपॉन्स मिलेगा कि नहीं, अगर मिलेगा तो कैसा मिलेगा, इन सब बातों को लेकर यदि आत्मविश्वास की कमी हो तो लाइकोपोडियम 30 की कुछ खुराकें प्रत्याशी को चिन्तामुक्त कर सकती है।
जब सताये आलस
डॉ वर्मा बताते हैें कि चुनाव के दौरान नेताओं की नींद उड़ जाती है जिससे वह दिन में आलस्य से ग्रसित रहते हैं, बात करते-करते सो जाते हैं, ऐसे में नेताओं को पूरी नींद लेनी चाहिए, नींद न आने पर काली फस 6 एक्स औषधि कारगर साबित हो सकती है। नींद के लिये एलोपैथिक दवाएं नही प्रयोग करना चाहिए क्योंकि व्यक्ति इन दवाइयों का आदी हो जाता है तथा शरीर पर इसका प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है।
थकान का दर्द छूमंतर  
डॉ वर्मा कहते हैं कि चुनाव में दिन भर भागदौड़ से शरीर पस्त हो जाता है, सुस्ती आ जाती है काम करने की इच्छा नहीं करती है ऐसे में सुबह जब प्रचार के लिये निकलें तो ऐवेना सटाइवा क्यू की 30 बूंद ले लें यह आपकी थकान को दूर कर देंगी। दिनभर की थकान के बाद यदि शरीर में दर्द हो तो रसटाक्स 30 एवं आर्निका 30 की कुछ खुराकें आपके दर्द को छू मंतर कर सकती हैं।  सर्दी के मौसम में पूरे कपड़े पहन कर निकलना चाहिए साथ ही साथ हमेशा गुनगुना पानी पीना चाहिए।
तरोताजा दिमाग बहुत जरूरी
डॉ वर्मा का कहना है कि दिनभर भाषण, बहस, माथा-पच्ची, चिक-चिक एवं मतदाताओं को समझाने में थकान आ जाती है ऐसे में ऐसिड फांस 30 फेरम फास 6 एक्स औषधि के प्रयोग से आप का दिमाग तरो-ताजा हो जायेगा और आप जनता को बेहतर तरीके से अपने पक्ष में मोड़ सकेंगे। होम्योपैथिक दवाइयां पूरी तरह निरापद हैं और इनका प्रयोग ऐहतियात के तौर पर भी किया जा सकता है। चुनाव के सफर में होम्योपैथिक दवाइयां आपकी हमसफर साबित हो सकती है तथा आपके चुनाव के वैतरणी को पार करने में आपका सहयोग कर सकती हैं साथ ही चुनाव को सफल एवं खुशनुमा बनाकर आपकी जीत के सपने को साकार करने में मददगार साबित हो सकती है। उन्होंने कहा कि ये औषधियां किसी होम्योपैथिक चिकित्सक की सलाह से ही लेनी चाहिए।

डॉ अनुरुद्ध वर्मा

मोबाइल नंबर +91 9415075558