नारी स्‍वयं एक शक्ति पुंज, सिर्फ इसे पहचानने की जरूरत

-‘मिशन शक्ति’ कार्यक्रम के अंतर्गत केजीएमयू के पैरामेडिकल साइंस में कार्यक्रम आयोजित

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। नारी स्वयं एक शक्ति पुंज है जिसने समाज को प्रकाशित किया है, उसे सहारे के लिए जग की ओर देखने की आवश्यकता नहीं है। नारी को अपनी शक्ति को पहचानने की जरूरत है।

यह बात आज किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्विद्यालय के डीन पैरामेडिकल साइंस प्रो विनोद जैन ने पैरामेडिकल साइंस संकाय द्वारा आयोजित ‘मिशन शक्ति’ प्रोग्राम के अंतर्गत अपने सम्‍बोधन में कही। इस मौके पर महिलाओं को प्रशिक्षण के माध्यम से आत्मरक्षा एवम आत्म विश्वास के लिए जागरूक किया गया।

डॉ जैन ने छात्राओं को संबोधित करते हुए बताया नारी स्वयं एक शक्ति पुंज है जिसने समाज को प्रकाशित किया है उसे जग की ओर सहारा देखने की आवश्यकता नहीं है, वह तो स्वयं जगत का आधार है। नारी को अपनी शक्ति को पहचानना है एवं अपने आत्म सम्मान एवं आत्मरक्षा के लिए आगे बढ़कर आना है।

इस अवसर पर मंजरी शुक्ला ने महिला सुरक्षा के लिए सेल्‍फ डिफेन्‍स ट्रेनिंग मॉड्यूल के माध्यम से छात्राओ में जागरूकता को बढ़ाया एवं आत्मरक्षा भावना को जागृत किया।

शिवांगी श्रीवास्तव ने छात्राओं को आत्मरक्षा संबंधित बेसिक तकनीकि एवम उपकरण भी बताये, जबकि वीनू दुबे एवम रचना वर्मा ने आत्मरक्षा का प्रशिक्षण देते हुए बताया कि महिलाओं को प्रतिक्रिया का सटीक जवाब देना आना चाहिए।

कार्यक्रम का संचालन शिवांगी श्रीवास्तव द्वारा किया गया। इस कार्यक्रम में 400 छात्राओं ने हिस्सा लिया। छात्राओं को संबंधित बेसिक तकनीक एवम उपकरण के बारे में भी बताया।