उन्नाव रेप पीड़िता की हालत में सुधार, आंखें खोलीं

मेडिकल बुलेटिन में दी गई जानकारी में कहा गया, रेप पीड़िता और वकील दोनों की हालत नाजुक लेकिन स्थिर

लखनऊ। किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के ट्रॉमा सेंटर से एक राहत भरी खबर आ रही है। उन्नाव रेप पीड़िता के बारे में जारी एक विज्ञप्ति में कहा गया है कि पीड़िता की हालत में पहले से सुधार हो रहा है। घायल पीड़िता अब कमांड फॉलो कर रही है एवं कर रही है एवं आंख खोलकर बातों को समझ रही है।

मीडिया प्रभारी प्रोफेसर संदीप तिवारी की ओर से जारी विज्ञप्ति में कहा गया है कि ट्रॉमा सेंटर के तृतीय तल पर आईसीयू में भर्ती उन्नाव रेप कांड की पीड़िता तथा उसके वकील की हालत अभी नाजुक बनी हुई है, लेकिन स्थिर है महिला मरीज यानी रेप पीड़िता की हालत के बारे में कहा गया है कि उसमें सुधार हो रहा है और वह अब कमांड फॉलो कर रही है एवं आंखें खोलकर बातों को समझ रही है।

मेडिकल बुलेटिन में बताया गया है कि पीड़िता को बुखार आने की प्रवृति भी कम हुई है तथा अब उसको वेंटिलेटर से हटाने की प्रक्रिया शुरू की गई है। बताया गया है कि महिला को ब्लड प्रेशर नियमित रखने की दवा अभी भी देनी पड़ रही है। पीड़िता के वकील के बारे में बताया गया है कि वह बिना वेंटिलेटर के स्वतः सांस ले रहा है, लेकिन उनकी हालत में कोई सुधार नहीं है और वह अभी भी गहन बेहोशी (डीप कोमा) में है। दोनों का इलाज विशेषज्ञ चिकित्सकों द्वारा किया जा रहा है।