Wednesday , August 17 2022

अस्‍पतालों में स्‍वास्‍थ्‍य कर्मियों का दो घंटे कार्य बहिष्‍कार जारी, परेशान रहे मरीज

-अनियमित स्‍थानांतरणों के खिलाफ राज्‍य कर्मचारी संयुक्‍त परिषद का राज्‍यव्‍यापी आंदोलन जारी

बलरामपुर अस्‍पताल, लखनऊ में नारेबाजी

सेहत टाइम्‍स  

लखनऊ। राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद उ0प्र0 के आवाहन पर चिकित्सा स्वास्थ्य विभाग के समूह ग कर्मियों के नीति विरुद्ध हुए स्थानांतरण को निरस्त करने के लिए आज 27 जुलाई को दूसरे दिन भी स्वास्थ्यकर्मियों ने 2 घंटे का कार्य बहिष्कार जारी रहा। जिसमें स्वास्थ्य विभाग के सभी संवर्गों के कर्मी शामिल हुए। कार्य बहिष्कार प्रदेश के सभी चिकित्सालयों, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर सफल हुआ, साथ ही फील्ड में काम कर रहे स्वास्थ्य कर्मियों ने भी प्रातः 2 घंटे कार्य बहिष्कार कर अपना विरोध दर्ज कराया। जगह जगह अलग-अलग चिकित्सालयों में कर्मचारियों ने एकत्रित होकर नीति विरुद्ध स्थानांतरण को निरस्त करने की मांग करते हुए नारेबाजी की और प्रदर्शन किया। कार्य बहिष्‍कार के चलते मरीजों को आज भी परेशानी हुई, ओपीडी में दिखाने पहुंचे मरीजों का न पर्चा बना, जांच भी नहीं हुई, दवा के लिए भी 10 बजे का इंतजार मरीजों व तीमारदारों को करना पड़ा।

कार्य बहिष्‍कार के दौरान कर्मचारियों का इंतजार करते मरीज व परिजन

लखनऊ जनपद में बलरामपुर चिकित्सालय में सुभाष श्रीवास्तव के नेतृत्व में प्रदर्शन किया गया, वहीं सिविल चिकित्सालय में प्रमुख उपाध्यक्ष सुनील यादव के नेतृत्व में प्रदर्शन कर नारेबाजी की गई। रानी लक्ष्मी बाई चिकित्सालय में जी एम सिंह के नेतृत्व में कार्यबहिष्कर किया गया। सी एच सी सरोजनीनगर में सतीश के नेतृत्व में जमकर प्रदर्शन हुआ, लोहिया चिकित्सालय में डी डी त्रिपाठी सहित विभिन्न चिकित्सालयों में अनेक पदाधिकारियों ने उपस्थित होकर कार्यक्रम का नेतृत्व किया। 

अयोध्‍या स्थित चिकित्‍सालय में नारेबाजी

परिषद के प्रांतीय महामंत्री अतुल मिश्रा, अध्यक्ष सुरेश रावत ने मुख्यमंत्री से मांग की है कि तत्काल स्थानांतरण निरस्त किए जाए अन्यथा की स्थिति में कार्य बहिष्कार सांकेतिक रूप से दो घंटे के रूप में 30 जुलाई तक अनवरत चलता रहेगा, तदोपरांत बड़े आंदोलन का भी निर्णय लिया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

two + six =

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.