तीन मेडिकल छात्रों ने की मंत्री अनुप्रिया पटेल की फ्लीट में घुसने की कोशिश

मना करने पर की गुंडों जैसी हरकत, फब्तियां कसीं, हिरासत में लिए गए

आयुर्वेद डॉक्टर बनने के लिए BAMS करने वाले तीन छात्रों को पुलिस ने हिरासत में लिया है. कार पर सवार इन युवकों ने उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर में केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री अनुप्रिया पटेल की फ्लीट में कई बार घुसने की कोशिश की तथा गुंडों जैसी हरकत की. फिलहाल तीनों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है.

 

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार मिर्जापुर से वापस जाते वक्त बगैर नंबर की फोर्ड कार सवार तीन युवकों ने केंद्रीय मंत्री की फ्लीट में कई बार घुसने की कोशिश की। स्कॉर्ट वाहन में मौजूद पुलिसकर्मियों और पीआरओ ने कार सवार तीनों को ऐसा करने से मना किया तो सभी बदसलूकी पर उतर आए। मामले को गंभीर होता देख केंद्रीय मंत्री ने पुलिस अधिकारियों को फोन कर घटना की जानकारी दी तो मिर्जामुराद में पुलिस ने हाईवे पर बैरिकेडिंग कर कार रोकी और तीनों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की। तीनों भदोही निवासी बीएएमएस के छात्र बताए गए हैं।

 

अपना दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष व एमएलसी आशीष पटेल ने बताया कि मिर्जापुर के चील्ह से आगे बढ़ने पर तीनों छात्रों ने बिना नंबर की अपनी कार को आगे-पीछे करके फब्तियां कसनी शुरू कर दीं। पहले तो इसे नजरअंदाज किया गया। औराई से वाराणसी के रास्ते पर छात्रों ने फिर से फब्तियां कसनी शुरू कर दीं। इस दौरान वह गाली भी बक रहे थे और कार से हाथ निकालकर इशारे भी कर रहे थे। युवक ये हरकतें करते हुए एनएच दो पर स्थित कछवां रोड तक गए। इस पर मंत्री की सुरक्षा में लगे सीआरपीएफ के जवानों ने दौड़ाया तो तीनों भाग गए और फिर कुछ आगे जाकर बदतमीजी शुरू कर दी।

 

इस पर अनुप्रिया पटेल ने वाराणसी पुलिस को सूचना दी। इसके बाद मिर्जामुराद में तीनों को पकड़ लिया गया। घटना पर नाराजगी जाहिर करते हुए आशीष पटेल ने कहा कि हर बार मिर्ज़ापुर में मंत्री के साथ ऐसा होता है। इसकी शिकायत सीएम योगी आदित्य नाथ और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से की जाएगी। मिर्जापुर के एसपी आशीष तिवारी ने बताया कि तीनों छात्र मंत्री के काफिले और स्कॉट को ओवरटेक करने की कोशिश कर रहे थे। इस दौरान स्कॉट से उनकी कहासुनी भी हुई। जब तीनों नहीं माने तो उन्हें मिर्जामुराद पुलिस ने हिरासत में ले लिया।

 

बताया जा रहा है कि जिस वाहन में मंत्री मौजूद थीं उसके पीछे लगा स्कॉर्ट वाहन खटारा किस्म का था। इस वजह से वो काफी पीछे रह गया और बगैर नंबर की कार सवार लोग केंद्रीय मंत्री की सुरक्षा के लिए खतरा बने। इस संबंध में एसएसपी रामकृष्ण भारद्वाज ने बताया कि प्रकरण की जांच के लिए सीओ बड़ागांव को मौके पर भेजा गया है। हिरासत में लिए गए तीनों युवकों से पूछताछ कर मामले में आगे की कार्रवाई की जाएगी।

आशीष पटेल ने कहा कि मिर्जापुर पुलिस द्वारा यही सही तरीके से सुरक्षा दी जाती तो ऐसी घटना नहीं होती। मिर्जापुर प्रवास के दौरान केंद्रीय मंत्री की सुरक्षा में अक्सर लापरवाही की जाती है। इस संबंध में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से बातचीत की जाएगी।