Sunday , August 21 2022

एक माह बाद हॉस्पिटल से लौटी मां को छोड़ ड्यूटी पर जाने का फैसला आसान नहीं था…

-केजीएमयू के कोविड वार्ड के आइसोलेशन के फैकल्‍टी इंचार्ज डॉ सुधीर मिश्र ने साझा किये अनुभव

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। मेरे लिए उस समय फैसला लेना आसान नहीं था, दुविधा में था, एक तरफ मुझको जन्म देने वाली मां, जो गंभीर बीमारी से जूझते हुए एक महीना हॉस्पिटल में रहने के बाद 2 दिन पहले डिस्चार्ज होकर घर आई थीं, जबकि दूसरी ओर भारत मां जिसके सपूत आज वैश्विक महामारी कोरोना से जूझ रहे हैं, फिर मैंने दृढ़ निश्चय करके फैसला लिया और चल पड़ा अपने कर्तव्य पथ पर और आ गया सीधे कोविड वार्ड के आइसोलेशन में ड्यूटी करने।

यह उद्गार केजीएमयू के आइसोलेशन के फैकल्‍टी इंचार्ज एसपीएम विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर डॉक्टर सुधीर मिश्रा ने 14 दिन की आईसोलेशन वार्ड की ड्यूटी पूरी करने के बाद व्‍यक्‍त किये। उन्‍होंने कहा कि मेरी टीम 11 के सदस्य डॉक्टर अमरीश, डॉक्टर संतोष, डॉ अमित, डॉक्टर मोहित और डॉक्टर जूहि‍का ने इस 14 दिन के समय में रिकॉर्ड 21 मरीजों को डिस्चार्ज किया जो कुल ठीक हुए मरीजों के 35 परसेंट हैं। डॉक्टर सुधीर बताते हैं मुझे जब कोविड आइसोलेशन में ड्यूटी करने को कहा गया उस समय परिवार को व्यवस्थित करना मुश्किल था, इसका कारण था 2 दिन पहले मेरी मां गंभीर बीमारी के कारण अस्पताल में एक महीना भर्ती रहने के बाद घर लौटीं थीं। उनकी देखभाल करने की मेरी जिम्‍मेदारी थी, मैंने सोचा कि‍ मुझे मेरी मां को देखना है या भारत माता को, और उसके बाद मैंने यह फैसला किया कि मैं अपनी ड्यूटी पर जाऊंगा।

डॉ सुधीर बताते हैं कि यद्यपि बहुत से लोगों ने यह समझाया कि मेरे पास ड्यूटी से इनकार करने की वाजिब वजह है, लेकिन मुझे लगा कि‍ सबसे पहले कर्तव्य है फिर बाकी बाद में। डॉक्टर सुधीर ने बताया कि ड्यूटी के समय जब भी समय मिलता मां का हाल पूछ कर पत्नी को गाइड कर देता था, तीन-चार बार तबीयत खराब भी हुई लेकिन विभाग के सहयोग से सब व्यवस्थित हो गया। उन्होंने बताया कि हमारी टीम 11 ने बहुत सहयोग दिया, उन्‍हें मैं तहे दिल से शुक्रिया कहना चाहता हूं। इसके अलावा टीम की नर्सिंग स्टाफ, वार्ड बॉय, स्वीपर सभी ने पूरे तन-मन लगाकर काम किया। उन्होंने दुख व्यक्त करते हुए कहा कि टीम की सदस्य रचना जो की सफाई कर्मचारी है, आखिरी दिन उसके पति का स्वर्गवास हो गया, जिसका हमारी पूरी टीम 11 को दुख है। उन्होंने आम जनता को संदेश देते हुए कहा कि कोरोना से डरना नहीं  है, मास्क को लगा कर रखना है, 2 गज दूरी बना कर रखना है, उन्होंने कहा कि हम यह लड़ाई अवश्य जीतेंगे, बस सबका साथ चाहिए। उन्‍होंने अपील की कि अच्‍छा खानपान लें, पूरी नींद लें, पानी ज्यादा पीयें, रोजाना 45 मिनट योग, प्राणायाम और अन्य व्यायाम करने का प्रयत्न करें।