केजीएमयू के जनरल सर्जरी डिपार्टमेंट की ‘बर्थडे’ पर जुटेंगे यूके से लेकर लखनऊ तक के विशेषज्ञ

 

छह दिवसीय स्‍थापना दिवस समारोह का उद्घाटन 12 फरवरी को

 

लखनऊ। किंग जॉर्ज चिकित्‍सा विश्‍वविद्यालय का सर्जरी विभाग सोमवार 12 फरवरी से 17 फरवरी तक अपना स्‍थापना दिवस मना रहा है। केजीएमयू के पुराने विभागों में एक जनरल सर्जरी विभाग 63 वर्ष का हो गया है। इस मौके पर छह दिवसीय कार्यक्रम में सर्जिकल एजूकेशन प्रोग्राम भी आयोजित किया जा रहा है जिसकी थीम ‘उत्‍कृष्‍ट सेवा के आयाम’ रखी गयी है।

 

यह जानकारी देते हुए आयो‍जन अध्‍यक्ष डॉ एए सोनकर व आयोजन सचिव डॉ सौम्‍या सिंह ने बताया कि छह दिवसीय आयोजन के पहले दिन उद्घाटन समारोह में मुख्‍य अतिथि के रूप में चिकित्‍सा शिक्षा मंत्री आशुतोष टंडन, विशिष्‍ट अतिथि के रूप में आबकारी मंत्री राजकुमार जयप्रताप सिंह व डीजीएमई डॉ केके गुप्‍ता को आमंत्रित किया गया है। इसी दिन दो व्‍याख्‍यानों और दो गेस्‍ट लेक्चर का आयोजन किया गया है। इनमें कुलपति प्रो एमएलबी भट्ट कैंसर में रेडियोथेरेपी के सिद्धांत विषय पर, टाटा मेडिकल सेंटर कोलकाता के प्रो वी सीताराम ‘चिकित्‍सा में गुरु की भूमिका’ विषय पर, पीजीआई चं‍डीगढ़ के प्रो जीआर वर्मा पित्‍ताशय व अग्‍नाशय के ट्यूमर्स की सर्जरी पर तथा इंग्‍लैंड के कैम्ब्रिज विश्‍वविद्यालय के डॉ आसिफ जाह लिवर प्रत्‍यारोपण पर व्‍याख्‍यान देंगे।

उन्‍होंने बताया कि इस मौके पर यूके की कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी हॉस्पिटल, टाटा मेमोरियल मुम्‍बई, टाटा मेमोरियल कोलकाता, एम्‍स नयी दिल्‍ली, जीबी पंत दिल्‍ली, पीजीआई चंडीगढ़, जेआईपीएमईआर पुडुचेरी, बीएचयू वाराण्‍सी के साथ ही लखनऊ स्थित पीजीआई, लोहिया संस्‍थान और केजीएमयू के विशेषज्ञ विशेष जानकारी देंगे।

 

विभाग की वार्षिक रिपोर्ट के बारे में उन्‍होंने बताया कि सर्जरी विभाग ने एक साल में 54299 रोगियों का इलाज किया गया जिनमें छोटी-बड़ी सभी तरह की सर्जरी शामिल हैं। उन्‍होंने बताया कि स्‍थापना दिवस समारोह में मरीजों के उपचार के साथ ही यहां के चिकित्‍सकों द्वारा अन्‍य विश्‍वस्‍तरीय संस्‍थानों में प्रस्‍तुत किये गये शोध पत्र, पोस्‍टर प्रदर्शनी, प्रशिक्षण लेना, प्रशिक्षण देना सभी क्रियाकलापों के बारे में विस्‍तृत रिपोर्ट प्रस्‍तुत की जायेगी। पत्रकार वार्ता में प्रो विनोद जैन भी उपस्थित रहे।