…ताकि कोरोना वैक्‍सीनेशन में किसी प्रकार की चूक न हो जाये

-संजय गांधी पीजीआई में वैक्‍सीनेशन को लेकर किया गया ड्राई रन

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। वैश्विक महामारी कोविड-19 से जूझते लोगों के बीच कोरोना की वैक्‍सीन एक आशा की किरण लेकर आने वाली है, इसकी युद्धस्‍तर पर तैयारियां चल रही हैं, वैक्‍सीनेशन को लेकर किसी प्रकार की गलती न हो इसके लिए इसका डेमो किया जा रहा है। इसी क्रम में आज 2 जनवरी को यहां लखनऊ स्थित संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान लखनऊ में वैक्सीन का ड्राई रन (डेमो ट्रायल) किया गया।

आपको बता दें‍ कि उत्तर प्रदेश के नौ लाख़ स्वास्थ्य कर्मियों में से 55 हजार लखनऊ जिले में कार्यरत हैं। संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान में लगभग 5500 स्वास्थ्य कर्मी कार्यरत है। इनके समुचित टीकाकरण के लिए के लिए सप्ताह के 4 दिन तय किए गए हैं। पहले 3 दिन  प्राथमिकता से वैक्सीनेशन किया जाएगा। चौथे दिन माप अप राउंड होगा, जिसमें बचे हुए स्वास्थ्य कर्मियों को वैक्सीन दी जाएगी।

इस तरह 4 दिनों में 55 सौ स्वास्थ्य कर्मियों का टीकाकरण का कार्यक्रम तय किया गया है। लगभग 1800 लोगों को 1 दिन में टीका लगाए जाने की योजना है। इसके लिए पुरानी ओपीडी के तीन हॉल को क्रमशः वेरिफिकेशन एरिया, वैक्सीनेशन एरिया और ऑब्जर्वेशन एरिया में परिवर्तित किया गया है। पहले हाल में स्टाफ की पहचान सुनिश्चित की जाएगी। दूसरे हॉल में वैक्सीन लगाई जाएगी और तीसरे हॉल में प्रत्येक स्वास्थ्य कर्मी को टीकाकरण के पश्चात आधे घंटे के लिए निरीक्षण में रखा जाएगा। इस ड्रिल में 25 लोगों को शामिल किया गया व पूरी व्यवस्था को सुनिश्चित किया गया।