मीठी गोलियों के सेवन से तम्‍बाकू की कड़वी लत को कहिये ‘ना’

-विश्‍व तम्‍बाकू निषेध दिवस पर डॉ अनुरुद्ध वर्मा ने दी सलाह

डॉ अनुरुद्ध वर्मा

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। जन स्वास्थ्य के लिए गंभीर खतरा एवं चिंता का विषय बनी धूम्रपान एवं तम्बाकू की कड़वी लत को होम्योपैथी की मीठी मीठी होम्योपैथिक गोलियों द्वारा आसानी से छुटकारा दिलाया जा सकता है।

यह जानकारी विश्व तम्बाकू निषेध दिवस पर केंद्रीय होम्योपेथिक परिषद के पूर्व सदस्य डॉ अनुरुद्ध वर्मा ने दी है। उन्होंने बताया कि होम्योपैथी में ऐसी अनेक कारगर औषधियां हैं जो आसानी से इस जानलेवा लत से छुटकारा दिला सकती है। उन्होंने बताया कि तम्बाकू में पाया जाना वाला निकोटीन अलकोलोइड लत उत्पन करता है होम्योपैथिक दवाइयां उसकी लत पैदा करने की क्षमता को कम करती हैं। उन्होंने बताया कि  होम्योपैथी की दवाइयां न केवल लत से छुटकारा दिलाती हैं बल्कि  तम्बाकू से शरीर पर होने वाले कुप्रभावों एवं खतरों से भी बचाती हैं साथ ही इन होम्योपैथिक दवाइयों का शरीर पर किसी प्रकार का दुष्परिणाम भी नहीं होता है। होम्योपैथिक दवाइयों की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि यह लती  ब्यक्ति को बिना बताये दी जा सकती हैं  और उसकी आदत छूट सकती है । होम्योपैथिक दवाइयां रोगी की  लत को छोड़ने की इच्छा शक्ति भी उत्पन करती हैं जिससे उसकी लत आसानी से छूट सकती है। उन्होंने बताया कि तम्बाकू एवँ धूम्रपान की लत से छुटकारा दिलाने, में आर्सेनिक एल्बम , इग्नेशिया , डेफना इंडिका, कैलेडिम,टोबैकम, स्टॉफसगरिया, अर्जेंटम नाइट्रिकम, निकोटिनम, नक्स वोमिका, आदि औषधियां रोगी के लक्षणों के आधार पर  कुशल चिकित्सक की सलाह पर दी जा सकती हैं। उन्होंने बताया कि इसे छोड़ने के बाद दो तीन दिन तक विड्राल लक्षण प्रकट होते है जिनमे चिड़चिड़ापन, नींद की कमी, बेचैनी आदि के लक्षण प्रकट होतें है होम्योपैथिक दवाइयां उनको भी दूर करती हैं जिससे लती व्यक्ति आसानी से तम्बाकू एवम धूम्रपान की लत से छुटकारा प्राप्त कर सकता है।

तम्बाकू की तलब लगने पर सौंफ़, इलाइची, लौंग, टॉफी आदि का प्रयोग करना चाहिए तथा प्राकृतिक पेय पदार्थ तथा अधिक पानी पीना चाहिये। हरी सब्जियों एवम मौसमी फलों का सेवन करना चाहिए  साथ ही व्यक्ति को व्यायाम, योग, प्राणायाम, ध्यान करना चाहिए एवं टहलना चाहिए इससे शरीर मे ऑक्सीजन का प्रवाह तेज हो जाता है इससे तम्बाकू की तलब दूर करने में सहायता मिलती है। हमेशा सकारात्मक सोच के साथ इच्छा शक्ति को मजबूत कर दृढ़ निश्चय कर यदि तम्बाकू को छोड़ने का प्रयास किया जाएगा तो निश्चित रूप से सफलता मिलेगी।