लाइफ साइंस में रिसर्च के लिए हुआ समझौता

 

केजीएमयू और अवध विश्वविद्यालय करेंगे एक-दूसरे का सहयोग

 

लखनऊ. किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय एवं  डॉ. राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के बीच एक समझौता पत्र पर हस्ताक्षर किया गया। उपरोक्त एम0ओ0यू0 के  तहत डॉ. राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के लाइफ साइंसेज (जीवन विज्ञान) विभाग में शोध गुणवत्ता के उन्नयन के लिए किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय द्वारा सहयोग प्रदान किया जायेगा। यह समझौता पत्र किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 मदन लाल ब्रह्म भट्ट एवं डॉ. आरएमएल अवध विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 मनोज दीक्षित द्वारा हस्ताक्षरित किया गया।

 

लोहिया विश्वविद्यालय परिसर में संचालित जीवन विज्ञान क्षेत्र से जुड़े विभाग बायोकेमेस्ट्री, पर्यावरणविज्ञान एवं माइक्रोबायलाजी में शोध की व्यापकता एवं गुणवत्ता में उन्नयन के लिए विश्वविद्यालय राष्ट्रीय स्तर के विश्वविद्यालयों एवं अनुसंधान संस्थानों से शोध के क्षेत्र में तालमेल स्थापित करने  के लिए प्रयासरत है। इस सहमति पत्र को हस्ताक्षरित करने से दोनों संस्थानों में जीवविज्ञान से सम्बंधित विभागों के शिक्षकों तथा शोध छात्रों को दोनों संस्थाओं के संसाधनों को उपयोग करने की छूट मिलेगी और शोधार्थी छात्र शोध से सम्बंधित क्रियाकलापों को निःशुल्क करने में सक्षम हो सकेंगे। दोनों संस्थानों के संकाय सदस्य/गाइड एक-दूसरे संस्था के छात्रों को अपने निर्देशन में शोध करा सकेंगे एवं संयुक्त रूप से किसी प्रशिक्षण कार्यक्रम एवं संगोष्ठी का आयोजन कर सकेंगे।