Sunday , May 8 2022

तीन दिवसीय कौशल भारत रोजगार मेले में तीन हजार से अधिक लोगों को जॉब

कस्टमर रिलेशन्स एक्ज़ीक्‍यूटिव, ह्मुमन रिसोर्स-जूनियर एक्ज़ीक्‍यूटिव, ब्यूटी थेरेपिस्ट, मशीन ऑपरेटर और सेल्स एक्‍जीक्‍यूटिव के जॉब रोल्स के लिए चुना गया 

 

लखनऊ तीन दिवसीय कौशल भारत रोजगार मेले में तकरीबन 3000 से अधिक उम्मीदवारों को कस्टमर रिलेशन्स एक्ज़ीक्‍यूटिव, ह्मुमन रिसोर्स-जूनियर एक्ज़ीक्‍यूटिव, ब्यूटी थेरेपिस्ट, मशीन ऑपरेटर और सेल्स एक्‍जीक्‍यूटिव के जॉब रोल्स के लिए चुना गया।

 

रोजगार मेले का आयोजन 26 से 28 अक्टूबर को श्री जय नारायण पी जी कॉलेज, स्टेशन रोड, चारबाग, लखनऊ में आयोजित किया गया था। राज्य के सबसे बड़े नौकरी मेलों में से एक इस रोज़गार मेले को बहुत अच्छी प्रतिक्रिया मिली। तकरीबन 80 से अधिक कोरपोरेट्स, 15000 कुशल उम्मीदवारों ने मेले में हिस्सा लिया। उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने समापन समारोह में हिस्‍सा लिया।

 

राष्ट्रीय कौशल विकास निगम द्वारा आयोजित कौशल भारत के रोज़गार मेले ने लखनऊ में नौकरी ढूंढ़ने वाले युवाओं को भावी नियोक्ताओं से जोड़ने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, उन्हें उद्यमिता सहित रोज़गार के अवसरों के बारे में जानने का मौका मिला। मेले ने संगठनों को ऐसा मंच प्रदान किया, जहां नियोक्ताओं को भावी कर्मचारियों से मिलने का मौका मिला। मेले में हिस्सा लेने वाले अग्रणी कॉरपोरेट्स और सगठनों में बजाज कैपिटल, ताज विवांता, एनआईआईटी लिमिटेड, आरोहण माइक्रोफाइनेन्स, भारतीय टेलीमीडिया, मुथुट माइक्रोफिन, जी 4 एस सिक्योरिटीज़, नैचुरल्स, कार्निवाल फिल्म्स शामिल थे। रोज़गार मेले में कुशल उम्मीदवारों को नियोक्ताओं, एचआर प्रबंधकों, भर्ती अधिकारियों, प्रशिक्षण प्रदाताओं से मिलने का अवसर मिला।

 

युवाओं के लिए कौशल विकास के महत्व पर बात करते हुए दिनेश शर्मा ने कहा, ‘‘हम उत्तर प्रदेश के युवाओं को रोज़गार के अवसर उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध हैं। एनएसडीसी द्वारा रोज़गार मेलों के आयोजन ने हज़ारो युवाओं को नियोक्ताओं के साथ जोड़ा है। युवाओं को अपनी पसंद की नौकरी पाने के लिए कौशल पर ध्यान देना चाहिए। हम युवाओं को कौशल प्रदान करने के लिए भरसक प्रयास कर रहे हैं ताकि वे उचित नौकरी पाकर जीवन में कामयाब हो सकें।’’

 

इस मौके पर 5000 से अधिक युवाओं को नई पहल ‘‘स्किल साथी’’ के बारे में जानकारी दी गई, उन्होंने कौशल भारत मिशन के तहत विभिन्न कौशल विकास योजनाओं के बारे में बताया गया। स्किल साथी युवाओं को विभिन्न पाठ्यक्रमों एवं कौशल प्रशिक्षण के बारे में जानकारी देता है। युवाओं को शुल्क आधारित प्रोग्रामों तथा सरकारी योजनाओं जैसे प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना, अप्रेन्टिसशिप के तहत विभिन्न पाठ्यक्रमों के बारे में बताया गया।

 

इसके अलावा कौशल मेले/ कौशल प्रदर्शनी का आयोजन भी किया गया। कौशल मेले के दौरान प्रशिक्षण प्रदाताओं एवं सेक्टर स्किल परिषदों ने विभिन्न क्षेत्रों जैसे ऑटोमोबाइल, आईटी, आईटीईएस, रीटेल, हेल्थकेयेर, ब्यूटी, कृषि आदि क्षेत्रों में व्यवसायिक प्रशिक्षण के अवसरों के बारे में जानकारी प्रदान की।

 

प्रधानमंत्री के कौशल भारत दृष्टिकोण के अनुरूप कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय के तत्वावधान में विभिन्न हितधारकों जैसे उद्योग, संस्थानों, प्रशिक्षण प्रदाताओं के साथ साझेदारी में रोज़गार मेलों, कौशल मेलों, स्किल साथी आदि का आयोजन कर रही है जिस के माध्यम से युवाओं को नौकरी प्रदाताओं के साथ जोड़ा जा रहा है।

 

अब तक 18 लाख उम्मीदवारों को प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के तहत प्रमाणपत्र दिए जा चुके हैं और लगभग 8.99 लाख उम्मीदवारों को नौकरियों या स्व-रोजग़ार के द्वारा सक्षम बनाया गया है।