Tuesday , May 10 2022

नवजात मृत्‍यु दर में 25 फीसदी गिरावट ला सकती है कंगारू मदर केयर

उत्‍तर प्रदेश में 101 नयी कंगारू मदर केयर यूनिट का लोकार्पण, अब कुल 170 इकाइयां

लखनऊ। उत्‍तर प्रदेश की परिवार कल्याण मंत्री प्रो रीता बहुगुणा जोशी ने आज गोमतीनगर लखनऊ स्थित इन्दिरा गांधी प्रतिष्ठान में 101 नयी कंगारू मदर केयर यूनिट का औपचारिक लोकार्पण किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि कंगारू मदर केयर समय से पूर्व जन्म लेने वाले बच्चों को बचाने में बेहद प्रभावी रही है। प्रदेश में 69 केएमसी यूनिट पहले से प्रभावी तौर पर कार्य कर रही है, जिसमें 25 इकाइयों को गत वर्ष ही संचालित किया गया था। आज लोकार्पित की गई 101 इकाइयों को मिलाकर प्रदेश में अब 170 इकाइयाँ उपलब्ध हो गई है।

 

प्रो0 जोशी ने इस अवसर पर ‘अग्रिमा’ के तौर पर दो वर्ष तक अविवाहित रहकर केएमसी इकाईयों में निःशुल्क सेवा प्रदान कर रही बालिकाओं की विशेष सराहना करते हुए कहा कि उनका यह कार्य सेवा की दृष्टि से बेहद अहम है। उन्होंने मिशन निदेशक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन पंकज कुमार से जोर देकर कहा कि यदि विभाग में फण्ड की उपलब्धता हो तो उप्र में चलाये जा रहे कंगारू मदर केयर की चिकित्सा से जुड़ी इस विशेष क्रिया का एक प्रोग्राम विकसित कर विश्व स्तर पर प्रसारित करवायें जिसमें इस अवधारणा को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर समझा जा सके और बच्चों के हित को देखते हुए अमल में लाया जा सके।

 

प्रो0 जोशी ने कहा कि केएमसी (कंगारू मदर केयर), नवजात शिशु मृत्युदर में गिरावट लाने के लिए सबसे प्रभावशाली प्रक्रिया है। केएमसी के अंतर्गत शिशु को माँ के सीने पर त्वचा-से-त्वचा सम्पर्क में लगातार (आदर्शतः 20 घंटे से अधिक प्रतिदिन) कलेजे से चिपका कर, केवल माँ का दूध पिलाते हुए संक्रमण से बचाव सुनिश्चित किया जाता है। वैज्ञानिक तथ्यों के अनुसार केएमसी के प्रभावी क्रियान्वयन से नवजात शिशु मृत्युदर में 25 प्रतिशत से अधिक की गिरावट लायी जा सकती है।

 

लोकार्पण समारोह में डीजी परिवार कल्याण नीना गुप्ता, मिशन निदेशक एनएचएम पंकज कुमार, डा विश्वजीत सहित यूपी के सभी जिलों में स्थापित 101 केएमसी इकाईयों से चिकित्साधिकारी तथा स्टाफ नर्स, स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों सहित स्थानीय जिलों से आशायें, सामुदायिक प्रतिनिधि और कुछ लाभार्थी माँ तथा शिशु भी उपस्थित रहे।