एम्‍स दिल्‍ली में भीषण आग, पांच मंजिलों को लिया चपेट में

किसी के हताहत होने की खबर नहीं, तीन दर्जन गाडि़यां आग बुझाने में जुटीं

नयी दिल्‍ली/लखनऊ। शॉर्ट सर्किट से लगी आग से एयर कंडीशनर के ब्‍लास्‍ट होने से दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में शनिवार शाम भीषण आग लग गई। आग शाम करीब चार बजे इमर्जेंसी वॉर्ड के पास टीचिंग ब्लॉक की दूसरी मंजिल पर लगी। इसके बाद आग ने पहली मंजिल तथा तीसरी, फि‍र चौथी तथा पांचवीं मंजिल तक अपनी चपेट में ले लिया, राहत की बात यह है कि आग से किसी व्‍यक्ति को नुकसान होने की खबर नहीं है। इमरजेंसी वार्ड को एहतियातन बंद कर दिया गया है। हालात पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन करीबी नजर बनाए हुए हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार एम्‍स दिल्‍ली के टीचिंग ब्‍लॉक की दूसरी मंजिल पर आग लगी, यहां से शुरू होकर आग ने पहली और तीसरी, चौथी और पांचवीं मंजिल को भी अपनी चपेट में ले लिया। दमकल की 34 गाड़ियां मौके पर आग बुझाने की कोशिश कर रही हैं। बीच में आग पर काबू पा लिया गया था लेकिन वह दोबारा भड़क गई और ऊपर के मंजिलों को भी चपेट में ले ली। फिलहाल आग पर काबू पा लिया गया है लेकिन वह पूरी तरह बुझी नहीं है।

एहतियात के तौर पर इमर्जेंसी वार्ड को बंद कर दिया गया है। यहां से मरीजों को शिफ्ट कर दिया गया है। नजदीक के AB विंग में भर्ती मरीजों को अस्थायी तौर पर दूसरे विंगों में शिफ्ट किया गया है। कुछ अन्य ब्लॉक से भी मरीजों को शिफ्ट किया जा रहा है। राहत की बात यह है कि किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है। आग की वजह शॉर्ट सर्किट को बताया जा रहा है। शॉर्ट सर्किट की वजह से पहली और दूसरी मंजिल पर आग भड़क गई। बाद में एसी के कंप्रेशर में ब्लास्ट होने की वजह से 5वें फ्लोर पर भी ऊंची-ऊंची लपटे उठने लगीं।

आग लगते ही अस्पताल में अफरा-तफरी मच गई। आग पर काबू पाने का प्रयास किया जा रहा है। हर तरफ धुआं फैल गया है। आग टीचिंग ब्लॉक में लगी और यह शाम के समय यह खाली था। यहां कई लैब्स और आचार्यों यानी प्रोफेसर्स के केबिन हैं। फायर टेंडर्स शीशे को तोड़कर अंदर दाखिल हुए।

टीचिंग ब्लॉक एक नॉन-पेशेंट ब्लॉक है यानी वहां मरीज नहीं रहते। ब्लॉक में रिसर्च लैब, डॉक्टर्स रूम आदि है। चूंकि AIIMS के इमर्जेंसी वॉर्ड से सटा हुआ है। इसी वजह से इमर्जेंसी वॉर्ड को खाली करा दिया गया है और वहां से मरीजों को सुरक्षित जगह शिफ्ट किया गया है। आग से प्रभावित होने वाले हिस्सों में इमर्जेंसी लैब, बी ब्लॉक, वॉर्ड एबी1 और सुपरस्पेशलिटी ओपीडी एरिया शामिल हैं।

एम्स के बाहर बड़ी संख्या में लोग जुट गए हैं। ज्ञात हो पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली कार्डियो न्यूरो केंद्र के आईसीयू में भर्ती हैं जो परिसर की एक अलग इमारत में स्थित है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एम्स अस्पताल में लगी आग पर ट्वीट किया है। केजरीवाल ने लिखा है, ‘एम्स अस्पताल में लगी आग पर जल्दी ही काबू पा लिया जाएगा. फायर सर्विस आग पर काबू पाने के भरसक प्रयास कर रही है। मैं लोगों से अपील करता हूं कि वे शांति बनाए रखें और दमकल कर्मियों को उनका काम करने दें।’