सूनसान इलाके में कार में ही डॉक्टर करता था भ्रूण के लिंग की जांच

डॉक्टर समेत तीन लोग पुलिस के हत्थे चढ़े

प्रतीकात्मक फोटो

जिनके बिना दुनिया अधूरी है, उन बेटियों को कोख में ही मार देना वह भी पैसों के लालच में, शायद यह समाज का दुर्भाग्य है कि ऐसे कृत्य करने वाले लोग आज भी अपने को समझदार कहते हैं. इन कृत्य में लिप्त लोगों की दुनिया लगता है सिर्फ पैसों तक ही सिमट गयी है. बेटियों को कोख में मार डालने का घिनौना कार्य करने वाले लोग नए-नए तरीके अपना कर अपने इस धंधे को चला रहे हैं. लिंग परीक्षण के लिए अल्ट्रासाउंड करने वाले क्लिनिक पर छापामारी से किस तरह बचा जाये इसका तोड़ डॉक्टर ने ऐसे निकाला कि आप भी सुनकर चौंक जायेंगे. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार हरियाणा के सोनीपत जिले में स्वास्थ्य विभाग और पुलिस की टीम ने एक ऐसे ही गिरोह को पर्दाफाश किया है जो महज कुछ हजार रुपये लेकर दिल्ली के सीमावर्ती इलाके से सटे जंगल के अंदर एक कार में भ्रूण लिंग की जांच करता था। पुलिस ने लिंग जांच करने वाले डॉक्टर समेत 3 लोगों को गिरफ्तार किया है।

 

सोनीपत के स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि उन्हें कुछ दिनों पहले इस गिरोह के बारे में जानकारी मिली थी जिसके बाद उन्होंने गिरोह का पर्दाफाश करने के लिए एक महिला को इन गिरोह के पास भेजा। महिला ने गिरोह के पास जाकर अल्ट्रासाउंड करा भ्रूण के लिंग जांच की बात की जिसके ऐवज में गिरोह ने महिला से 30 हजार रुपये मांगे।

 

स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि महिला से 30 हजार रुपये लेने के बाद गिरोह उसे कुंडली बार्डर से सटे एक जंगल में कार से ले गए जहां कार के अंदर ही महिला का अल्ट्रासाउंड किया गया। स्वास्थ्य विभाग और पुलिस महिला का मोबाइल की मदद से पीछा कर रही थी। स्वास्थ्य विभाग की टीम जब वहां पहुंची तो वो कार के अंदर अल्ट्रासाउंट मशीन और भ्रूण हत्या की आधुनिक मशीनें देख हैरान रह गई। पुलिस ने बताया कि मौके पर एक डॉक्टर सुभाष जैन समेत तीन लोग थे। सुभाष जैन दिल्ली में डॉक्टरी की प्रैक्टिस करता है। पुलिस ने बताया कि उन्होंने सभी मशीनों को जब्त करने के साथ तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।