निजी चिकित्‍सा संस्‍थानों को पंजीकरण-नवीनीकरण में छूट सिर्फ 10 दिन और बढ़ी

-31 मार्च, 2021 तक बढ़ाने की मांग नहीं मानी गयी, दो माह बाद ही फि‍र करनी होगी पूरी कवायद

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में निजी नर्सिंग होम सहित सभी चिकित्सा संस्थानों के पंजीकरण/ नवीनीकरण की समय सीमा में पूर्व में जारी शासनादेश के अनुसार 31 दिसंबर 2020 को समाप्‍त हो रही सीमा को 10 दिन के लिए और बढ़ाते हुए 10 जनवरी 2021 निर्धारित की गई है हालांकि इंडियन मेडिकल एसोसिएशन की तरफ से इसे 31 मार्च 2021 तक बढ़ाने की मांग की गई थी।

इस सम्‍बन्‍ध में चिकित्‍सा एवं स्‍वास्‍थ्‍य के महानिदेशक डॉ डीएस नेगी की ओर से जारी सभी जिलों को समय सीमा 10 जनवरी, 2021 तक ऑनलाइन पंजीकरण/नवीनीकरण की प्रक्रिया पूर्ण करने को कहा गया है। ज्ञात हो प्रत्‍येक वर्ष अप्रैल माह में पंजीकरण का नवीनीकरण किया जाता है, कोविड महामारी के चलते 2020-21 के लिए रजिस्‍ट्रेशन के नवीनीकरण की समय सीमा अब तक बढ़ती रही है, इसी बीच नवीनीकरण की प्रक्रिया ऑनलाइन भी कर दी गयी है। ऐसे में इस ऑनलाइन प्रक्रिया को पहली बार करने और तीन माह बाद ही 31 मार्च तक अगले साल के लिए पुन: करने की कवायद से बचने के लिए मांग की गयी थी कि नवीनीकरण की प्रक्रिया में 31 मार्च, 2021 तक के लिए छूट दे दी जाये, लेकिन शासन में काफी विचार-विमर्श के बाद इसे 10 जनवरी, 2021 तक ही बढ़ाने की छूट दी गयी।  इस निर्णय से चिकित्‍सकों में निराशा दिखायी दे रही है।