आयुर्वेद, होम्‍योपैथी, यूनानी डॉक्‍टरी की पढ़ाई के लिए प्रवेश केवल ‘नीट’ से

अगले साल 2019 में 5 मई को आयोजित होगी नीट

 

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ने प्रदेश के समस्त राजकीय व निजी क्षेत्र के यूनानी, आयुर्वेदिक एवं होम्योपैथिक चिकित्सा के महाविद्यालय में बीयूएमएस, बीएएमएस, बीएचएमएस पाठ्यक्रमों के लिए शैक्षणिक सत्र 2019-20 में प्रवेश केवल नीट के आधार पर लिये जाने का निर्णय लिया है।

 

यह जानकारी निदेशक यूनानी सेवायें डॉ मो सिकन्दर हयात सिद्दीकी ने दी है। उन्होंने बताया कि इन पाठ्यक्रमों में प्रवेश केवल नेशनल टेस्ट एजेन्सी के माध्यम से 5 मई, 2019 (रविवार) को होने वाली प्रवेश परीक्षा ‘नेशनल इलिजिविल्टी कम इन्ट्रेंस टेस्ट (नीट) 2019’ की मेरिट के आधार पर होंगे।