अस्‍पतालों व कार्यालयों में संक्रमण से बचने के साधनों की उपलब्‍धता सुनिश्चित की जाये

-20 से ओपीडी व कार्यालयों को खोलने के आदेश के मद्देनजर राज्‍य कर्मचारी संयुक्‍त परिषद ने उठायी मांग

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद उत्तर प्रदेश ने 20 अप्रैल से कार्यालयों के खुलने एवं चिकित्सालय की ओ पी डी खुलने पर पर्याप्त सुरक्षा सामग्री पी०पी०ई किट, ग्लब्स, हेड कवर, शू कवर, फेस कवर आदि उपलब्ध कराने एवं कार्यालयों में सभी कर्मियों की नियमित स्क्रीनिंग एवं प्रत्येक 6 घंटे पर सैनिटाइजेशन की मांग की।

परिषद के महामंत्री अतुल मिश्रा, प्रमुख उपाध्यक्ष सुनील यादव ने मुख्य सचिव एवं प्रमुख सचिव चिकित्सा स्वास्थ्य को पत्र लिखकर कहा है कि मुख्यमंत्री स्वास्थ्य कर्मियों की सुरक्षा के प्रति अत्यंत गंभीर हैं, वहीं अन्य कार्यालय कर्मियों की भी सुरक्षा आवश्यक है।

यदि चिकित्सालय में सामान्य ओपीडी संचालित होती है तो सामान्य मरीज में से कोरोना संदिग्ध की पहचान कर पाना असंभव है, चिकित्सक, फार्मेसिस्ट व अन्य चिकित्सा कर्मी सीधे रोगी के संपर्क में आएंगे तथा उनके छुए हुए पर्चे आदि को वे स्वयं भी छुएंगे। औषधि वितरण, जांच में भी मरीज सीधे नर्सेज, फार्मेसिस्ट, एल०टी० व अन्य पैरामेडिकल कर्मचारियों के संपर्क में आएंगे।

ऐसे में चिकित्सालयों में सुरक्षा सामग्री की उपलब्धता पर्याप्त मात्रा में करनी होगी। इसके संबंध में महानिदेशक चिकित्सा स्वास्थ्य द्वारा विस्तृत निर्देश जारी करते हुए कहा है कि चिकित्सालय में प्रवेश के समय सभी को ग्ल्ब्स, मास्क हेड कवर, शूकवर, फेस कवर इत्यादि उपलब्ध कराएं जाएं।

वहीं सामान्य कार्यालयों के खोले जाने पर भी परिषद ने कहा कि सभी कर्मचारियों को कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए कार्यालयों को प्रत्येक 6 घंटे पर सैनिटाइज किया जाना आवश्यक होगा। प्रत्येक कर्मचारी के स्क्रीनिंग एवं सभी कर्मचारियों को ग्लब्स, मास्क, सैनिटाइजर आदि भी  उपलब्ध कराए जाने की मांग की है तथा मुख्य सचिव से निर्देश जारी करने की मांग की है।