चार चिकित्‍सा शिक्षा संस्‍थानों के कर्मचारियों का सरकार को अल्‍टीमेटम

-एसजीपीजीआई, केजीएमयू, लोहिया आयुर्विज्ञान संस्‍थान तथा रिम्‍स सैफई में काला फीता बांधकर जताया गया विरोध

-एक हफ्ते में नहीं दिये गये 7वे वेतनमान के अनुसार भत्‍ते, तो उठायेंगे कड़ा कदम

एसजीपीजीआई में विरोध प्रदर्शन।

 

लखनऊ। उत्तर प्रदेश पोस्ट ग्रेजुएट मेडिकल इंस्टीट्यूट ऑफ एम्प्लाइज फेडरेशन (UPPGMIAEF) के बैनर तले चार बड़े संस्थानों SGPGI, KGMU, RMLIMS एवं RIMS सैफई के कर्मचारियों को सरकार एवं शासन द्वारा सातवें वेतनमान के अनुसार भत्‍तों का भुगतान न किये जाने के विरोध में इन चारों संस्‍थानों के कर्मचारियों ने शांतिपूर्वक अपना विरोध जताया। सभी संस्‍थानों के कर्मचारियों द्वारा बिना सेवाएं बाधित किये अपने-अपने कार्य स्थल पर काला फ़ीता बांधकर जोरदार  विरोध प्रदर्शन किया गया। फेडरेशन की अध्‍यक्ष सावित्री सिंह का कहना है कि एक हफ्ते तक हम लोग इसी तरह काला फीता बांधकर अपना कार्य करते हुए विरोध जतायेंगे लेकिन एक सप्‍ताह में हम लोगों की मांगें नहीं मानी गयीं तो फि‍र आगे के आंदोलन की रणनीति तय की जायेगी।

 


केजीएमयू में विरोध प्रदर्शन

 

UPPGMIAEF के महामंत्री प्रदीप गंगवार ने बताया कि चारों संस्‍थानों के कर्मचारियों को 7वें वेतनमान के अनुसार भत्‍तों का लाभ लम्‍बे समय से अटका हुआ है। इस पर अब तक ध्‍यान न देने के कारण हम लोगों ने विभागीय मंत्री आशुतोष टंडन से तथा विभागीय प्रमुख सचिव रजनीश दुबे से मुलाकात कर अपनी बात रखी। इस पर दोनों ही लोगों से इसे शीघ्र अनुमन्‍य किया जाना सुनिश्चित करने का आश्‍वासन दिया।


रिम्स, सैफई में विरोध प्रदर्शन

प्रदीप गंगवार ने बताया कि SGPGI के कर्मियों को AIMS दिल्ली के समान वेतन एवं भत्ते देना तय है तथा KGMU, RMLIMS और RIMS सैफई को SGPGI के समान वेतनमान एवं भत्ते देना तय किया गया है। उन्‍होंने बताया कि केंद्र सरकार द्वारा AIIMS तथा अपनी ऑटोनोमस ईकाइयो को 7वे वेतन के भत्ते जुलाई 2017 से अनुमन्य कर दिए गए हैं। लेकिन अभी तक AIIMS की तर्ज पर SGPGI के कर्मियों को भत्ते प्रदान करना अनुमन्‍य करने में शासन द्वारा उदासीन रवैया अपनाया जा रहा है। उन्‍होंने बताया कि इसी प्रकार चूंकि जब तक SGPGI के कर्मियों को भत्ते प्रदान नहीं होते, तब तक अन्य तीनो संस्थानों को भी भत्ते प्राप्त होने में कठिनाइयां उत्पन्न हो रही हैं।

 

आज के इस विरोध प्रदर्शन में SGPGI में अध्यक्ष सावित्री सिंह के नेतृत्व में, KGMU में विकास सिंह एवं प्रदीप गंगवार के नेतृत्व में, RMLIMS में अमित शर्मा तथा RIMS सैफई में उमेश सिसौदिया के नेतृत्व में कर्मचारियो द्वारा काला फीता बांधकर विरोध प्रदर्शन किया गया।

 

महासचिव प्रदीप गंगवार ने बताया कि कल 10 सितंबर को चारों संस्थानों के प्रतिनिधि मंडल द्वारा मंत्री चिकित्सा शिक्षा आशुतोष टंडन एवं प्रमुख सचिव रजनीश दुबे से मुलाकात की गयी थी। मुलाकात के दौरान उनके द्वारा यह आश्वासन दिया गया कि अतिशीघ्र चारो संस्थानों के कर्मियों को 7वे बेतन आयोग के भत्ते अनुमन्य कर दिए जाएंगे। उन्‍होंने कहा कि यदि अतिशीघ्र भत्ते अनुमन्य नही किये जाते हैं तो SGPGI, KGMU, RMLIMS एवं RIMS सैफई के कर्मचारी UPPGMIAEF के बैनर तले कठोर आंदोलन के लिए बाध्य होंगे।