मौसम की गमी और मतगणना की ‘गरमागरमी’ को देखते अस्‍पताल अलर्ट पर

म‍तगणना स्‍थल पर बनाया दो बेड का अस्‍थायी हॉस्पिटल

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। सर्वाधिक चर्चित और गहमा-गहमी से भरा आम चुनाव 2019 की प्रक्रिया अपने अंतिम चरण में है, कल 23 मई को सांसद बनने की आस लिये चुनाव मैदान में उतरे प्रत्‍याशियों की निगाहें कड़ी सुरक्षा में रखीं इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों से निकलने वाली मतों की गिनती पर लगी हुईं हैं। जबकि चुनाव प्रक्रिया को सकुशल सम्‍पन्‍न कराने की चुनौती में लगे चुनाव आयोग के अधिकारियों-कर्मचारियों का ध्‍यान सब कुछ सकुशल सम्‍पन्‍न कराने के लिए किये जाने वाली व्‍यवस्‍था में लगा हुआ है। इसी व्‍यवस्‍था का एक पहलू है चिकित्‍सा सुविधाओं को अलर्ट रखना। मौसम की गर्मी हो या फि‍र रिजल्‍ट के बाद की गर्मागर्मी मतगणना स्‍थल के साथ ही सभी अस्‍पतालों को सतर्क रहने को कहा गया है।

 

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर नरेंद्र अग्रवाल ने बताया 23 मई को रमाबाई अंबेडकर रैली स्थल पर लोकसभा सामान्य निर्वाचन 2019 की मतगणना के अवसर पर स्वास्थ्य सुविधाओं का विशेष प्रबंध किया गया है उन्होंने बताया कि मतगणना केंद्र पर दो बेड का एक अस्थाई चिकित्सालय भी बनाया गया है जिसमें सभी आकस्मिक आकस्मिक स्थितियों के लिए सुविधाएं उपलब्ध रहेंगी।

 

मतगणना केंद्र पर round-the-clock 3 शिफ्ट में चिकित्सक एवं रोगी वाहन की व्यवस्था की गई है। पहली शिफ्ट में 6 बजे से 2 बजे तक बलरामपुर चिकित्सालय तथा सामुदायिक स्वास्‍थ्‍य केंद्र सरोजिनी नगर की टीम रहेगी, जबकि दोपहर 2 बजे से रात्रि 10 बजे तक रानी लक्ष्मीबाई चिकित्सालय तथा लोकबंधु राजनारायण चिकित्सालय की टीम एंबुलेंस सहित उपस्थित रहेंगी। रात्रि 10 बजे से अगले दिन प्रात 8 बजे तक संयुक्त चिकित्सालय ठाकुरगंज तथा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बीकेटी की टीम एंबुलेंस सहित उपस्थित रहेगी।

 

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ अग्रवाल ने बताया कि गर्मी को देखते हुए सभी मतगणना टेबल पर 5-5 ओआरएस पैकेट उपलब्ध कराए जाएंगे। उन्होंने बताया कि मतगणना को देखते हुए लोकबंधु राजनारायण चिकित्सालय, रानी लक्ष्मीबाई चिकित्सालय राजाजीपुरम, डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी चिकित्सालय हजरतगंज, डॉक्टर राम मनोहर लोहिया चिकित्सालय गोमती नगर, केजीएमयू तथा बलरामपुर चिकित्सालय को सजग एवं सतर्क रखने के निर्देश दिए गए हैं। मतगणना केंद्र से रोगियों को लोक बंधु राज नारायण चिकित्सालय जाने की संभावना को दृष्टि में रखते हुए  विशेष रूप से बेड आरक्षित रखने हेतु अनुरोध किया गया है।