Friday , May 6 2022

लोगों को जीने के तरीके बताने वाला कोरोना से हार गया जिन्‍दगी की जंग

-पद्मश्री डॉ केके अग्रवाल का निधन, अंतिम वीडियो में कहा ‘शो मस्‍ट गो ऑन’

डॉ केके अग्रवाल

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

नयी दिल्‍ली/लखनऊ। दूसरों को जीवन जीने का तरीका, रोगों से बचने के तरीके, बरती जाने वाली सावधानियां जैसी अनेक बातें सिखाने वाले पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित मशहूर कार्डियोलॉजिस्‍ट इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के पूर्व अध्‍यक्ष डॉ केके अग्रवाल अंतत: कोरोना से जीवन की जंग हार गये,  सोमवार की रात साढ़े 11 बजे उन्‍होंने अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान (एम्‍स) दिल्‍ली में अंतिम सांस ली। डॉ अग्रवाल की जिंदादिली का अंदाज इसी बात से लगाया जा सकता है कि उन्‍होंने अपनी तबीयत खराब की स्थिति में भी बनाये गये वीडियो में उन्‍होंने मौजूदा हालातों में ज्‍यादा से ज्‍यादा मरीजों को एकसाथ देखने की तरकीब बतायी थी। नाक में ऑक्‍सीजन लगाये हुए डॉ अग्रवाल ने अपनी तबीयत के बारे में जिक्र करते हुए राजकपूर की फि‍ल्‍म मेरा नाम जोकर में दिये गये मैसेज के बारे में कहा था कि यह सही है कि स्थितियां कुछ भी हों लेकिन शो मस्‍ट गो ऑन।

डॉ अग्रवाल बीती 28 अप्रैल को कोरोना संक्रमित हुए थे, इसके बाद उन्‍हें 7 मई को अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार इस बात की काफी चर्चा है कि डॉ अग्रवाल कोरोना वैक्‍सीन के दोनों डोज लगवा चुके थे, हालांकि इसके जवाब में विशेषज्ञ इसकी कई वजह गिना रहे हैं। देखा जाये तो इस मसले पर किसी प्रकार का कयास लगाना उचित नहीं होगा, यह कह सकते हैं कि कुल मिलाकर इस प्रश्‍न के उत्‍तर के लिए विशेषज्ञों द्वारा मंथन किया जाना जरूरी है।  


एक न्‍यूज चैनल ने इस विषय में कहा है कि उनका इलाज देश के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल एम्‍स दिल्ली में चल रहा था और विशेष रूप से डॉक्टरों की एक टीम उनकी देखरेख कर रही थी। ऐसे में इलाज में कमी की बात तो सोची नहीं जा सकती इसके बाद भी उन्‍हें बचाया नहीं जा सका तो इससे ऐसा प्रतीत होता है कि कोरोना की यह स्‍ट्रेन बहुत खतरनाक है।

यही है डॉ केके अग्रवाल का अंतिम वीडियो जिसमें वे कह रहे हैं ‘शो मस्‍ट गो ऑन’