दवा व्यापारियों को मिलेगा तीन माह का और समय

केमिस्‍ट्स एंड ड्रगिस्‍ट्स फेडरेशन उत्‍तर प्रदेश के प्रतिनिधिमंडल को एफडीए आयुक्‍त ने दिया आश्‍वासन  

 

 

लखनऊ। उत्‍तर प्रदेश के दवा व्‍यापारियों के लिए राहत की खबर है। खाद्य एवं औषधि प्रशासन की आयुक्‍त ने दवा व्‍यापारियों को अपने विवरण उत्‍तर प्रदेश सरकार के पोर्टल पर अपलोड करने के लिए निर्धारित सीमा तीन माह के लिए बढ़ायी जायेगी। ऐसा होने के बाद 30 नवम्‍बर तक विवरण अपलोड किये जा सकेंगे, अभी तक अपलोड करने की अंतिम तारीख 31 अगस्‍त है।

 

यह जानकारी देते हुए केमिस्‍ट एंड ड्रगिस्‍ट फेडरेशन उत्‍तर प्रदेश के महामंत्री सुरेश गुप्‍ता ने देते हुए कहा है कि फेडरेशन के एक प्रतिनिधि मंडल ने आज लखनऊ में मिनीस्‍टी एस, खाद्य आयुक्‍त खाद्य एवं औषधि प्रशासन उत्‍तर प्रदेश के साथ बैठक कर दवा व्‍यापारियों की समस्‍याओं से अवगत कराया। सुरेश गुप्‍ता ने बताया कि आयुक्‍त ने उत्‍तर प्रदेश सरकार के पोर्टल पर दवा दुकानों की जानकारी अपलोड करने की अंतिम तिथि 31 अ्गस्‍त से बढ़ाकर 30 नवम्‍बर करने का आश्‍वासन दिया।

 

सुरेश गुप्‍ता ने बताया कि इसी के साथ ही अपलोड करने के लिए आवश्यक दस्तावेज, दुकान किराया अनुबंध, किराया रसीद, रेफ्रिजरेटर बिल, दुकान का नक्शा, शैक्षिक प्रमाणपत्र आदि जमा करने से भी छूट का आश्‍वासन दिया, सुरेश गुप्‍ता ने बताया कि हम लोगों ने सिर्फ आधार कार्ड और फोटो जमा करने पर जोर दिया। उन्‍होंने बताया कि थोक दवा बिक्री के लिए लाइसेंस जारी करने के नियमों में भी शिथिलीकरण करने का आश्‍वासन दिया है। उन्‍होंने बताया कि इसके लिए विशेष रूप से किसी भी व्‍यक्ति के लिए अनुभव प्रमाण पत्र ज्रारी करना व्‍यापारी के लिए मुश्किल था क्‍योंकि अनुभव प्रमाण पत्र के लिए नियमित कर्मचारी होना और सभी नियम की पूर्ति होना आवश्‍यक है।

श्री गुप्‍ता ने बताया कि इसके अलावा फॉर्म 35 के विषय पर, फार्मासिस्‍ट के मुद्दे पर, ऑनलाइन फार्मेसी जैसे मुद्दे भी आयुक्‍त के समक्ष रखे गये। सभी मुद्दों को सुनने के बाद इनके हल करने का भी आश्‍वासन दिया। बैठक में सुरेश गुप्‍ता के साथ ही फेडरेशन के अध्‍यक्ष दिवाकर सिंह, संगठन सचिव सुधीर अग्रवाल, संरक्षक गिरिराज रास्तोगी, चेयरमैन मोहम्‍मद इब्राहिम और पीआरओ सुरेश कुमार शामिल रहे।