डॉ पण्ड्या राष्‍ट्र को समर्थ बनाने के तरीके के साथ ही व्‍यावसायिक नैतिकता का पाठ भी पढ़ायेंगे

दो दिवसीय प्रवास पर राजधानी लखनऊ 8 दिसम्‍बर को आयेंगे गायत्री परिवार के डॉ चिन्‍मय पण्ड्या

लखनऊ। देव संस्कृति विश्वविद्यालय हरिद्वार, उत्तराखण्ड के प्रतिकुलपति, अखिल विश्व गायत्री परिवार के विशेष प्रतिनिधि डॉं चिन्‍मय पण्ड्या,  राजधानी लखनऊ में राष्‍ट्र समर्थ कैसे बने विषय पर अपना व्‍याख्‍यान प्रस्‍तुत करेंगे, साथ ही व्‍यावसायिक नैतिकता का पाठ भी पढ़ायेंगे। डॉ पण्ड्या राजधानी में 8 एवं 9 को दो दिवसीय प्रवास पर रहेंगे। अपने प्रवास के दौरान व़ह  विशाल युवा सम्मेलन और प्रबु़द्ध वर्ग को नव निर्माण के चेतना से सम्पन्न समृद्ध भी करेगें।

यह जानकारी गायत्री परिवार के मुख्य मीडिया प्रभारी उमानंद शर्मा ने देते हुए बताया है कि डॉ चिन्मय पण्ड्या भारत नहीं बल्कि समस्त विश्व को सांस्कृतिक युवा चेतना से  नव निर्माण के लिए प्रेरित करने में सतत लगे हुए हैं।

डॉ शर्मा ने बताया कि अपने प्रथम सत्र में डॉ पण्ड्या सबसे पहले रामस्वरूप विश्वविद्यालय लखनऊ में 8 दिसम्‍बर को प्रातः 11 बजे, संस्थान के पुस्तकालय में युग ऋषि वाङ्मय स्थापना के साथ-साथ प्राध्यापक वर्ग को राष्ट्र समर्थ कैसे बने  विषय पर सम्बोधित करेंगे एवं व्यवसायिक नैतिकता  के विषय पर भी मार्गदर्शन करेंगे। इसके बाद सांय 5 बजे सेक्टर ‘जे’ आशियाना कथा पार्क, निकट कांशीराम स्मारक पर आयोजित विशाल युवा सम्मेलन को सम्बोधित करेंगे। इस सम्‍मेलन में मुख्‍य अतिथि के रूप में उत्‍तर प्रदेश के विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित भाग लेंगे।

डॉ शर्मा ने बताया कि डॉ पण्ड्या अखिल विश्व गायत्री परिवार के संस्थापक पं0 श्रीराम शर्मा आचार्य द्वारा संचालित विचार क्रान्ति अभियान के तहत युवा क्रान्ति वर्ष में नवजागरण की गति को उत्प्रेरित करने के लिए आयोजित कई कार्यक्रमों को सम्बाधित करेगें। श्री शर्मा ने बताया कि डॉ पण्ड्या सेक्टर ‘जे’ आशियाना कथा पार्क, निकट कांशीराम स्मारक में होने वाले 51 कुण्डीय गायत्री महायज्ञ में 8 एवं 9 को भाग लेकर प्रवचन भी देंगे।