पीजी कर रहे इन चिकित्सकों को 9 माह बाद भी नहीं मिला स्टाइपेन्ड

आर्थिक कठिनाइयों से जूझ रहे हैं लखनऊ-प्रयागराज से एमडी कर रहे विद्यार्थी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के होम्योपैथिक मेडिकल कॉलोजों में एमडी (होम्यो) में अध्ययन कर रहे छात्रों को छात्र वेतन (स्टाइपेन्ड) नहीं मिल रहा है। प्रवेश के लगभग 9 माह बीत जाने के बाद अभी तक छात्रों को छात्र वेतन (स्टाइपेन्ड) न प्राप्त होने के कारण उनको अनेक आर्थिक कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है।

ज्ञात हो कि प्रदेश के लखनऊ एवं प्रयागराज के होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेजों में केन्द्र सरकार एवं केन्द्रीय होम्योपैथी परिषद के अनुमति के बाद लखनऊ में 18 एवं प्रयागराज में 10 छात्रों का एमडी (होम्यो) में पाठ्यक्रम में नवम्बर 2018 में प्रवेश दिया गया था।

केन्द्रीय होम्योपैथी परिषद के पूर्व सदस्य डॉ अनुरुद्ध वर्मा ने बताया कि अन्य चिकित्सा पद्धतियों जैसे आयुर्वेद, यूनानी एवं एलौपैथी पद्धति के एमडी में अध्ययनरत छात्रों को छात्र वेतन (स्टाइपेन्ड) दिये जाने की व्यवस्था है। उन्होंने सरकार से प्रदेश के होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेजों में होम्योपैथी में एमडी (होम्यो) पाठ्यक्रम में छात्रों को आयुर्वेद, यूनानी एवं एलौपैथी पद्धति में एमडी कर रहे छात्रों की भांति छात्र वेतन (स्टाइपेन्ड) शीघ्र दिये जाने की मांग की है।