शर्मनाक : जिला अस्पताल के डॉक्टर ने इलाज कराने पहुँची युवती से की रेप की कोशिश

उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ का मामला, संविदा पर तैनात चिकित्सक पर लगा आरोप

उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ जिला अस्पताल में चिकित्सक द्वारा इलाज कराने पहुंची युवती के साथ रेप करने की कोशिश करने का मामला सामने आया है. चिकित्सक और मरीज के रिश्ते की मर्यादा को तार-तार करते हुए डॉक्टर ने युवती मरीज के साथ छेड़छाड़ करते हुए रेप करने का प्रयास किया. यह आरोप युवती के भाई की तरफ से दी गयी तहरीर में लगाया गया है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार यहां अस्पताल में इलाज कराने आई 24 वर्षीय युवती ने डॉक्टर पर रेप करने की कोशिश का आरोप लगाया है। पीड़िता के भाई की तहरीर पर आरोपी डॉक्टर को गिरफ्तार कर कोतवाली ले जाया गया, लेकिन पूछताछ से पहले ही डॉक्टर की हालत बिगड़ गई। जिसके चलते उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

 

घटना बुधवार की है, लेकिन पुलिसिया कार्रवाई शुरू होने के बाद मामले ने अब तूल पकड़ लिया है। पुलिस ने पीड़िता का बयान दर्ज कर लिया है और डॉक्टर पूरी तरह कानूनी शिकंजे में हैं। हालांकि डॉक्टर के समर्थन में उनका स्टाफ भी उतर आया है, जिससे इस मामले के राजनीतिकरण होने व लाइमलाइट होने की संभावना बन गई है।

 

पुलिस के अनुसार प्रतापगढ़ के पुरानी दीवानी दहिलामऊ की रहने वाली 24 वर्षीय युवती बुधवार सुबह अपने भाई के साथ जिला अस्पताल इलाज कराने आई थी। लेकिन, जब वह अस्पताल पहुंची तो पता चला डॉक्टर आरडी द्विवेदी अपने आवास पर हैं। दोनों भाई बहन आवास पर पहुंचे तो डॉक्टर ने युवती का चेकअप किया और भाई को दवा लाने के लिये भेज दिया। युवती के अनुसार भाई के जाने के बाद डॉक्टर ने अपने सहयोगी डब्बू सिंह के साथ उसे गलत तरीके से छूने लगा। पहले तो युवती चुप रही लेकिन कुछ बोलती उससे पहले ही भाई दवा लेकर आ गया।

 

युवती ने बताया कि उसका भाई जब दवा लेकर आया तो डॉक्टर ने उसे दवा खिलायी और भाई को अस्पताल से स्ट्रेचर लाने भेज दिया। बताया जाता है कि भाई के जाते ही दोनों ने युवती से गंदी हरकत शुरू कर दी और आवाज करने पर धमकी देने लगे। कुछ देर बाद जब भाई आया तो बहन को रोता-बिलखता देखकर सोचा की उसकी तबीयत बिगड़ गई है। डरी-सहमी युवती अपने भाई को अपने साथ हुई करतूत नहीं बता सकी. आनन-फानन में वह बहन को लेकर अस्पताल के वार्ड में पहुंचा, लेकिन बहन रोती रही। जब थोड़ी ही देर में परिजन भी अस्पताल पहुंचे तब युवती ने अपनी मां से डॉक्टर की करतूत बताई।

 

परिजनों ने यूपी-100 पर घटना की शिकायत की तो पूरे जिले में हड़कंप मच गया । पुलिस के पहुंचने से पहले डॉक्टर और सहयोगी गायब हो गये। थोड़ी देर बाद सीओ सिटी अंजनी राय पहुंचे तो पीड़िता का बयान लेकर कार्रवाई का आदेश दिया। मामले में शहर कोतवाल सुरेश सैनी ने बताया कि डॉक्टर संविदा पर रखा गया है। युवती के भाई की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। लेकिन तबीयत बिगड़ने के कारण आरोपी डाक्टर को इलाज के अस्पताल में भर्ती कराया गया है ।

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि कोतवाली के अंदर डाक्टर दुबे कुर्सी पर बैठे थे और अचानक वह कुर्सी से गिर पड़े। जिसके बाद बेहोशी हालत में उन्हे आईसीयू वार्ड में भर्ती कराया गया है और वार्ड के बाहर पुलिस कांस्टेबल तैनात किये गये हैं। हालांकि घटना की जानकारी जैसे ही अस्पताल के दूसरे स्टाफ को हुई और डॉक्टर दुबे के समर्थन में उतर आये है और इसे लेकर काफी गहमागहमी बढ़ गई है। फिलहाल मामले में पुलिस का कहना है कि पीड़िता व डॉक्टर से पूछताछ की गई है, उसी आधार पर आगे जांच व कार्रवाई की जा रही है।