‘चिकित्‍सक बिरादरी के वोट देने के मौलिक अधिकार के बारे में कुछ कीजिये’

उत्‍तर प्रदेश डॉक्‍टर्स एसोसिएशन ने पत्र लिखकर की चुनाव आयोग से अपील

लखनऊ। देश भर के रेजीडेंट्स डॉक्‍टरों की यूनाइटेड रेजीडेंट्स डॉक्‍टर्स एसोसिएशन की उत्‍तर प्रदेश इकाई उत्‍तर प्रदेश डॉक्‍टर्स एसोसिएशन (उपडा) ने चुनाव आयोग से अपील की है कि चुनाव में वोट देने का मौका ड्यूटी में लगे रहने वाले हम चिकित्‍सकों की बिरादरी को भी मिलना चाहिये।

 

डॉ नीरज कुमार मिश्र

एसोसिएशन की उत्‍तर प्रदेश इकाई के महासचिव डॉ नीरज कुमार मिश्र ने इस सम्‍बन्‍ध में चुनाव आयोग को एक पत्र लिखकर इसकी अनुमति मांगी है। पत्र में लिखा है कि एक स्‍वस्‍थ राष्‍ट्र के निर्माण के लिए संविधान के अनुसार वोट देना उनका मौलिक अधिकार है, लेकिन देखा जा रहा है कि ड्यूटी और तमाम अन्‍य वजहों से मेडिकल कॉलेजों, अस्‍पतालों के मेडिकल छात्र, रेजीडेंट्स (हमारी चिकित्‍सक बिरादरी) वोट देने के अपने इस मौ‍लिक अधिकार से वंचित रह जाती है। ऐसी स्थिति में हजारों-लाखों वोट बेकार चले जाते हैं जो कि राष्‍ट्र निर्माण में अपना अमूल्‍य सहयोग दे सकते हैं।

 

पत्र में अपील की गयी है कि चुनाव आयोग हम लोगों की इस बात पर विशेष रूप से गौर कर जल्‍द से जल्‍द इसका समाधान करे ताकि वोट देने के अपने मौलिक अधिकार से चिकित्‍सक बिरादरी वंचित न रहे। इस बारे में डॉ नीरज ने ‘सेहत टाइम्‍स’ को बताया कि हम लोगों ने यह पत्र भेज दिया है और जल्‍द ही हमारा प्र‍ति‍निधिमंडल चुनाव आयोग से व्‍यक्तिगत रूप से भी सम्‍पर्क कर वोट डालने के अपने मौलिक अधिकार के हनन को न होने देने की बात रखेगा।