कोविड के नये संक्रमण को लेकर किसी भ्रम में न रहें

-कोविड वैक्‍सीनेशन को लेकर 2 जनवरी को चलेगा लखनऊ में ड्राई रन अभियान

वनीत सहगल और अमित मोहन प्रसाद

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल ने कहा है कि कोविड के नये संक्रमण को लेकर किसी भी भ्रम में न रहें, किसी प्रकार की अफवाहों पर यकीन न करें, क्योंकि कोरोना के नया रूप का एक ही इलाज है कि सभी लोग मास्क पहने, हाथ साबुन-पानी से धोएं तथा लोगों से दो गज की दूरी रखें। उन्होंने बताया कि अभी तक यू0के0 से आने वाले लोगों में अभी तक 2 ही लोगों में कोविड-19 का दूसरा प्रकार पाया गया है और उनका इलाज चल रहा है तथा उनसे सम्पर्क में आने वाले लोगों की कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग की जा रही है। उन्होंने बताया कि 2 जनवरी, 2021 को वैक्सीनेशन की तैयारियों के संबंध में लखनऊ के 6 स्थानों पर ड्राई रन अभियान किया जायेगा।

नवनीत सहगल ने लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि प्रदेश में संक्रमण कम होने से कन्टेनमेंट जोन तथा हॉटस्पॉट क्षेत्र में भी कमी आयी है। उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश देश का पहला राज्य है जहां अब तक 2.40 करोड़ से अधिक कोविड-19 के टेस्ट किये जा चुके हैं, जिनमें 1 करोड़ से अधिक टेस्ट केवल आर0टी0पी0सी0आर0 के द्वारा किये गये है। घर-घर सर्वे का कार्य भी तेजी से किया जा रहा है।

अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि 2 जनवरी, 2021 को वैक्सीनेशन की तैयारियों को लेकर लखनऊ के जिन 6 स्थानों पर ड्राई रन अभियान किया जायेगा, वे हैं सीएचसी माल, सीएचसी मलिहाबाद, सहारा हॉस्पिटल, केजीएमयू, आरएमएल तथा संजय गांधी पीजीआई। उन्‍होंने बताया कि इसके बाद पूरे प्रदेश में 5 जनवरी से ड्राई रन अभियान चलाया जायेगा। उन्होंने बताया कि वैक्सीनेशन की तैयारियां चल रही है, जिसके अन्तर्गत कोविड चेन का विस्तार, स्टोरेज की व्यवस्था की जा रही है। इसके साथ ही वैक्सीन रखने वाले स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे लगाये जा रहे है। कोविड वैक्सीन के भण्डारण के साथ-साथ वैक्सीन लक्षित समूहों को चरणबद्ध तरीके से लगाने की व्यवस्था की जायेगी।

उन्होंने बताया कि 9 दिसम्बर के बाद से यू0के0 से आने वाले लोगों का कोविड-19 टेस्ट कराया जा रहा है। अब तक 2500 से अधिक सैम्पल लेकर टेस्ट किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि कोविड के नये संक्रमण से लोगों को डरने व घबराने की आवश्यकता नहीं है इससे बचाव के भी वही तरीके हैं जो अब तक अपनाये जा रहे हैं। इसलिए सभी लोग मास्क पहनें, हाथ साबुन-पानी से धोते रहें तथा लोगों से दो गज की दूरी बनाये रखें। जब तक वैक्सीन नहीं आती तब तक कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए पहले से बीमार बुजुर्गों, बच्चों, गर्भवती महिलाओं को संक्रमण से बचाना होगा।