उत्तर प्रदेश विधानसभा में मिला खतरनाक विस्फोटक

मुख्यमंत्री ने सुरक्षा में लगे कर्मियों के पुलिस वैरीफिकेशन की जरूरत बतायी

प्रकरण की जांच के लिए एनआईए को लिखने को कहा

बिना पास के व्यक्ति और वाहन की एंट्री पूर्ण रूप से बंद होनी चाहिये

लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधान सभा में बेहद खतरनाक विस्फोटक पीईटीएन बरामद हुआ है। यह विस्फोटक बुधवार को बरामद हुआ था। विशेषज्ञों के अनुसार पीईटीएन विस्फोटक आरडीएक्स की ही तरह खतरनाक होता है। यह पांच बड़े विस्फोटकों में से एक है। विस्फोटक नेता विपक्ष की कुर्सी से थोड़ी दूर पर मिला है। विस्फोटक मिलने के बारे में मुख्यमंत्री ने शुक्रवार को बयान भी दिया और उन्होंने 150 ग्राम विस्फोटक मिलने की पुष्टि की है। मुख्यमंत्री ने इस बात पर भी जोर दिया कि विधानभवन की सुरक्षा में लगे कर्मियों के पुलिस वैरीफिकेशन की जरूरत है। सुरक्षा को लेकर किसी तरह की ढिलाई नहीं दी जा सकती। उन्होंने घटना की जांच एनआईए से कराने की बात कही।
मिली जानकारी के अनुसार विधानसभा में सफेद रंग का पाउडर पीईटीएन विस्फोटक को डॉग स्क्वॉयड ने पकड़ा।  बताया जाता है कि यह विस्फोटक मेटल डिटेक्टर की पकड़ में नहीं आ सकता है, हालांकि बताया जा रहा है कि विस्फोटक का इस्तेमाल करने के लिए डेटोनेटर वहां नहीं मिला है सम्भवत: डेटोनेटर मेटल डिक्टेटर की पकड़ में आ सकता है इसलिए उसे यहां लाना सम्भव नहीं हो पाया होगा। जो भी हो विस्फोटक की बरामदगी ही अपने आप में सुरक्षा पर बड़े सवाल खड़े करती है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसे लोगों का पर्दाफाश होने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि मेरा मानना है कि विधान भवन में आते समय इस प्रकार की जांच होनी चाहिये जैसी कि एयरपोर्ट आदि पर होती है। उन्होंने सभी सदस्यों से अनुरोध किया कि इसमें सभी के सहयोग की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि बिना पास के लोगों की तथा वाहनों की एंट्री पूर्ण रूप से बैन किये जाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि सभी सदस्यों को चाहिये कि अध्यक्ष से अनुरोध करके इस तरह की साजिश को विफल करने के लिए पुख्ता तरीके से सुरक्षा की मांग उठानी चाहिये।