जुलाई माह में एक बार फि‍र फार्मासिस्‍ट की तैनाती के लिए होगी काउंसिलिंग

डीपीए के पदाधिकारियों को मांगें पूरी करने का डीजी ने दिया आश्‍वासन

लखनऊ। डिप्लोमा फार्मासिस्ट एसोसिएशन उप्र के प्रान्तीय पदाधिकारियों की बुधवार को महानिदेशक चिकित्सा एवं स्वास्थ्य उप्र के साथ स्वास्थ्य भवन में मीटिंग हुई। महानिदेशक ने 9 सूत्रीय मांगों पर पूर्ण सहमति प्रदान कर अति शीघ्र मांगों पर प्रस्ताव शासन भेजने का आश्‍वासन दिया। फार्मासिस्‍ट के खाली पड़े पदों पर नियुक्ति के लिए जुलाई माह में फि‍र काउंसिलिंग शुरू की जाने की बात भी कहीं है।

 

यह जानकारी देते हुए एसोसिएशन के कोषाध्‍यक्ष रजत यादव ने बताया कि इसके साथ ही महानिदेशक ने फार्मासिस्‍ट के जल्द प्रमोशन कराने, स्थानतारण नीति पर पूर्ण पारदर्शिता बरतने, दो साल की सेवा पर स्थाईकरण का निदेशक द्वारा आदेश तत्काल जारी किये जाने की बात भी कहीं।

 

इसके अलावा दो साल की सेवापूर्ण होने पर पे ग्रेड 4200 लगाने सम्बंधित आदेश भी निदेशक स्तर से तत्काल जारी किए जाएंगे।

 

उन्‍होंने कहा कि डीपीए उ‌ प्र की नई कार्यकारिणी के महामंत्री ने बैठक में पुरजोर तरीके से पहली बार अपनी मांगों को औचित्य के रखा, जिसे महानिदेशक ने सहमति सहित स्वीकार किया।

 

इस बैठक में अध्‍यक्ष संदीप बडोला, महामंत्री श्रवण सचान, वरिष्‍ठ उपाध्‍यक्ष उप्रेन्द प्रताप सिहं, उपाध्‍यक्ष राजेन्द्र सिंह पटेल, संगठन मंत्री रविन्द्र सिंह राना, कोषाध्‍यक्ष रजत यादव, आर एन डी दिवेदी, राजीव बाजपेई, शीरिष मिश्रा, अविनाश, राजेश वरुण सहित कई सदस्य मौजूद थे।