कोरोनावायरस : सिविल अस्‍पताल व लोकबंधु अस्‍पताल में बनाये गये 43 बेड के आइसोलेशन वार्ड

-हवाई अड्डे पर देर रात हेल्‍प डेस्‍क का जायजा लिया मुख्‍य चिकित्‍सा अधिकारी ने

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। चीन से फैले कोरोनावायरस का प्रकोप दूसरे देशों में भी देखा गया है साथ ही भारत के में भी इस रोगों के लक्षण वाले मरीजों को देखा गया है। ऐसी स्थिति में उत्तर प्रदेश को अलर्ट पर रखा गया है।

लखनऊ के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ नरेन्‍द्र अग्रवाल ने यहां स्थित चौधरी चरण सिंह अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे में बनायी गयी हेल्प डेस्‍क का रात करीब 9 बजे जायजा लिया। हेल्प डेस्क स्थापित करने का उद्देश्य बाहर से आने वाले यात्रियों की मेडिकल करना है। इसके लिए 8 डॉक्टरों का पैनल नियुक्त किया गया है।

इसके साथ ही राजधानी लखनऊ स्थित सभी सरकारी अस्पतालों में अत्यंत सतर्कता बरतने के निर्देश दिए गए हैं इस क्रम में डॉक्टर श्याम प्रसाद मुखर्जी सिविल हॉस्पिटल के निदेशक एवं प्रमुख अधीक्षक डॉ डीएस नेगी ने बताया कि प्रदेश में कोरोना वायरस से संक्रमित एवं ग्रसित रोगियों की देखभाल एवं उपचार के लिए शासन द्वारा दिए गए निर्देशों के अनुपालन में सिविल अस्पताल में मेल मेडिकल वार्ड में 16 बेड, फीमेल मेडिकल वार्ड में 11 बेड तथा बाल रोग विभाग में छह बेड के आइसोलेशन वार्ड बनाये गये है।

उन्होंने बताया है कि इन वार्ड में औषधियां, ऑक्सीजन, एन-95 मास्क एवं पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट की व्यवस्था भी सुनिश्चित कराई गई है। उन्होंने बताया कि अस्‍पताल के फि‍जीशियन डॉ वीवी त्रिपाठी को इस कार्य के लिए नोडल अधिकारी नामित किया गया है। डॉ त्रिपाठी इस मामले की रिपोर्टिंग करेंगे। डॉ नेगी जिनके पास लोकबंधु राजनारायण चिकित्सालय के निदेशक एवं प्रमुख अधीक्षक का भी कार्यभार है, ने बताया कि लोक बंधु चिकित्‍सालय में भी 10 बेड आरक्षित किए गए हैं। वहां भी औषधिया, ऑक्सीजन, एन-95 मास्क एवं पीपीई (पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट) की व्यवस्था सुनिश्चित कराई गई है। उन्होंने बताया है की इस कार्य के लिए चिकित्सालय के डॉ संजीव कुमार खटवानी को नोडल अधिकारी नामित किया गया है।