मान गयी सरकार : रेड और ऑरेंज जोन में उत्तर पुस्तिका मूल्यांकन अभी नहीं

-सिर्फ ग्रीन जोन वाले 20 जिलों में ही जांची जायेंगी यूपी बोर्ड की उत्‍तर पुस्तिकायें

डॉ दिनेश शर्मा

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ने कल 5 मई से यूपी बोर्ड की उत्तर पुस्तिकाओं का जो मूल्यांकन करने का आदेश दिया था, उसमें संशोधन किया है, नए आदेश के अनुसार अब सिर्फ ग्रीन जोन वाले 20 जनपदों में मूल्यांकन कार्य होगा, जबकि ऑरेंज और रेड जोन वाले 55 जनपदों में मूल्यांकन कार्य लॉक डाउन के बाद अगले आदेशों के अनुसार होगा। अब बाराबंकी, लखीमपुर खीरी, हाथरस, महाराजगंज, शाहजहांपुर, अम्‍बेडकरनगर, बलिया, चन्‍दौली, चित्रकूट, देवरिया, फर्रुखाबाद, फतेहपुर, हमीरपुर, कानपुर देहात, कुशीनगर, ललितपुर, महोबा, सिद्धार्थनगर, सोनभद्र एवं अमेठी में ही उत्‍तर पुस्तिकाओं का मूल्‍यांकन कार्य होगा।

यह जानकारी देते हुए उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ के प्रांतीय मंत्री व प्रवक्ता डॉ महेंद्र नाथ राय ने बताया कि शिक्षकों को संक्रमण के खतरे को लेकर हमारे संगठन ने मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री से यह अनुरोध किया था कि मूल्यांकन कार्य को फिलहाल स्थगित कर दिया जाए, इस अनुरोध को स्वीकार कर लिया गया है इसके लिए हम सरकार का आभार व्यक्त करते हैं।

डॉ महेंद्र नाथ राय

डॉ राय ने बताया कि अभी उप मुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा से हुई वार्ता में यह जानकारी हुई कि सरकार ऑरेंज और रेड जोन में मूल्यांकन कार्य स्थगित करने पर सहमत हो गयी हैं। उन्‍होंने उप मुख्‍यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा का आभार जताते हुए कहा कि छात्र हित को देखते हुए उपमुख्यमंत्री ने ग्रीन जोन में मूल्यांकन कार्य कराने का जो निर्णय लिया है, इस निर्णय पर हम सरकार के साथ हैं।

आपको बता दें पूर्व के अलावा आज 4 मई को भी संगठन की ओर से संरक्षक एवं नेता निर्दलीय समूह विधान परिषद राजबहादुर सिंह चंदेल अध्यक्ष एवं सचेतक निर्दलीय समूह विधान परिषद  चेत नारायण सिंह, महामंत्री रामबाबू शास्त्री, उपनेता निर्दलीय समूह विधान परिषद कांति सिंह, प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ महेंद्र नाथ राय तथा प्रदेश मंत्री देव स्वरूप त्रिवेदी द्वारा मुख्‍यमंत्री को पत्र लिखकर मूल्‍यांकन कार्य के चलते उत्‍पन्‍न होने वाली स्थितियों से संक्रमण का खतरे का जिक्र करते हुए अपील की थी कि लॉकडाउन होने तक उत्‍तर पुस्तिकाओं का मूल्‍यांकन स्‍थगित करने के आदेश देने की कृपा करें। इसके अलावा डॉ महेन्‍द्र नाथ राय ने उपमुख्‍यमंत्री को ट्वीट कर भी मूल्‍यांकन कार्य स्‍थगित करने का अनुरोध किया था।