आईएएस की तैयारी कर रहे विद्यार्थियों को भेंट की ‘अखंड ज्‍योति’

कोचिंग सेंटर रेस आई.ए.एस. में स्‍थापित किया गया वांग्‍मय साहित्‍य स्‍थापना अभियान के तहत 318वां सेट

लखनऊ। गायत्री ज्ञान मंदिर इंदिरा नगर, लखनऊ के विचार क्रान्ति ज्ञान यज्ञ अभियान के अन्तर्गत कोचिंग सेंटर ‘रेस आई.ए.एस.’ प्रधान कार्यालय अलीगंज, लखनऊ के केन्द्रीय पुस्तकालय’ में गायत्री परिवार के संस्थापक युगऋषि पं0 श्री राम शर्मा आचार्य द्वारा रचित सम्पूर्ण 78 खण्डों का वांग्‍मय  साहित्य की स्थापित किया गया। इस तरह गायत्री ज्ञान मंदिर इंदिरा नगर  के मुख्‍य ट्रस्‍टी उमानंद शर्मा द्वारा चलाये जा रहे इस अभियान के अंतर्गत अब तक 318 सेट अलग-अलग स्‍थानों पर स्‍थापित किये जा चुके है।

 

यह वांग्‍मय साहित्य गायत्री परिवार रचनात्मक ट्रस्ट, गायत्री ज्ञान मंदिर इन्दिरा नगर के सक्रिय कार्यकर्ता शिक्षाविद् बी.पी. सविता ने अपने माता-पिता की स्मृति में संस्थान के पुस्तकालय में भेंट किया।  उमानन्द शर्मा ने आई.ए.एस. परीक्षा की तैयारी कर रहे सभी छात्र-छात्राओं एवं शिक्षकों को अखण्ड ज्योति हिन्दी तथा अंग्रेजी पत्रिका भेंट की।

इस अवसर पर वांग्‍मय स्थापना अभियान के मुख्य संयोजक उमानंद शर्मा वांग्‍मय साहित्य पर प्रकाश डालते हुए कहा कि मानवीय मूल्य व्यावसायिक नैतिकता की शिक्षा को ऋषि साहित्य प्रदान करता है। शिक्षाविद् बीपी सविता ने कहा कि ज्ञान यज्ञ युग धर्म है, इसमें सभी को भागीदारी करने का प्रयास करना चाहिए। केके भारद्वाज उपजोन प्रभारी गायत्री परिवार लखनऊ ने ज्ञान यज्ञ के विषय पर ऋषि संदेश दिया। संस्था के चेयरमैन डॉ राजेश शुक्ला ने धन्यवाद ज्ञापन किया।

इस अवसर पर वांग्‍मय स्थापना अभियान के मुख्य संयोजक उमानंद शर्मा, उदयभान सिंह, केके भारद्वाज उपजोन प्रभारी लखनऊ, संस्थान की प्रबन्ध निदेशक लोरी शुक्ला, चेयरमैन डॉ. राजेश शुक्ला, अनिल भटनागर, कौशलेन्द्र सिंह, बीपी सविता सहित अन्य शिक्षकगण एवं छात्र-छात्रायें मौजूद थे।