लोहिया संस्थान में एमआरआई मशीन में घुस गयी रिवॉल्वर

फाइल फोटो

जांच के लिए आये मंत्री के साथ में था गनर, रिवॉल्वर लगाये था बेल्ट में

एमआरआई कक्ष के बाहर निकाल कर नहीं रखी गयी थी रिवॉल्वर

लखनऊ। डॉ राम मनोहर लोहिया संस्थान में आज 2 जून को एक बड़ा हादसा हो गया। हालांकि इस हादसे में जान को तो नुकसान बच गया लेकिन एमआरआई मशीन को जरूर क्षति पहुंची है। एमआरआई कराने आये उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्री के गनर की रिवॉल्वर चुम्बकीय वेग के चलते एमआरआई मशीन में घुस गयी।
मिली जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश सरकार के खादी मंत्री सत्यदेव पचौरी जो दो दिन पूर्व हरदोई में भाषण देते समय गिर गये थे, आज 2 जून को हरदोई से लौटते समय यहां लोहिया संस्थान में दिखाने आये। बताया जाता है कि यहां चिकित्सक डॉ विक्रम सिंह को दिखाने के बाद उनकी एमआरआई जांच होनी थी। वह एमआरआई जांच के लिए कक्ष में गये, उनके साथ-साथ उनका गनर भी मौजूद था। ज्ञात हो इस तरह की जांच के लिए मरीज के साथ एक व्यक्ति अंदर जा सकता है तथा जाने से पहले मोबाइल वगैरह बाहर ही रखा लिये जाते हैं, ऐसे में मंत्री के साथ गनर भी अंदर चला गया हालांकि मोबाइल आदि चीजें तो एमआरआई कक्ष के बाहर ही रखवा ली गयीं, लेकिन गनर की कमर में लगी लोडेड रिवॉल्वर कक्ष के बाहर नहीं निकाली गयी थी।  बताया जाता है कि इसके बाद जांच के लिए जैसे ही मशीन चालू की गयी तो मशीन में मौजूद चुम्बक रिवॉल्वर सहित गनर को अपनी ओर खींचने लगा। इसके बाद किसी तरह से बेल्ट टूट गयी और उसमें लगी रिवॉल्वर एमआरआई मशीन में घुस गयी और मशीन खडख़ड़ाकर बंद हो गयी।
इसके बाद मशीन बंद कर दी गयी है और जिस इंजीनियर ने मशीन को इन्स्टॉल किया था उसे बुलाया गया है। इस बारे में जब संस्थान के सीएमएस डॉ सुब्रत चन्द्रा से बात की गयी तो उनका कहना था कि जानकारी न होने की वजह से गलती से गनर रिवॉल्वर अंदर लेकर चला गया तो यह दुर्घटना हो गयी। उन्होंने बताया कि इंजीनियर को बुला लिया गया है, मशीन ठीक हो जायेगी।