लोहिया अस्पताल के कबाड़ में रैपर लगीं कुर्सियां, मेजें, अलमारियां भी

लखनऊ। लोहिया अस्पताल में पुराने उपकरण व सामान को हटाकर नये संसाधन स्थापित करने की कयावद में अंदर का कबाड़ बाहर निकाला जा रहा है। अधिकारियों की उदासीनता का आलम है कि उक्त कबाड़ में, नया सामान भी कबाड़ में निकाल दिया गया है। अधिकारियों ने कबाड़ के सामान को देखने की जहमत उठाई, वहीं कर्मचारियों का आलम यह है कि उन्होंने एक तरफ से नये पुराने सभी स्टे्रचर व व्हील चेयर व रैक व अलमारी आदि बाहर निकाल दिया।

लाखों का माल हजारों में बेचे जाने की तैयारी

लोहिया अस्पताल में लाखों का माल हजारों में बेचे जाने की तैयारी है, माध्यम कबाड़ बनाया जा रहा है। सूत्रों की माने तो कबाड़ हर अस्पताल व कार्यालय में निकलता है, शासन भी मंजूरी देता है। उसी की आड़ में, अधिकारी व कर्मचारी खेल करते हैं, सूत्रों का कहना है कि कबाड़ में कुर्सियां, मेजें व लोहे की कई अलमारियां बाहर निकाल दी गई हैं, जिनके रैपर तक नही हटाये गये हैं। इससे प्रतीत होता है कि मरीजों के लिए खरीदे गये उक्त उपकरण अस्पताल में उपयोग ही नहीं हुये। ठेकेदार से मिली भगत से कर्मचारियो ने सही सामान भी कबाड़ के रास्ते बाहर निकाल दिया है। इस संबन्ध में अस्पताल के निदेशक डॉ.डीएस नेगी का कहना है कि इंजीनियर की संस्तुति के बाद ही, निष्प्रयोज्य समान को ही कबाड़ में निकाला जाता है। फिर भी अगर कोई नया सामान कबाड़ में पहुंच गया है तो जांच कराई जायेगी, क्योंकि यह कर्मचारियों की गलती है