धन्वन्तरि केंद्र ने केजीएमयू को दिये स्ट्रेचर, व्हील चेयर

ठंडे पानी के लिए वाटर कूलर और पंखे भी दान किये

लखनऊ। धन्वन्तरि केंद्र ने किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय केजीएमयू में इलाज कराने के लिए आने वाले मरीजों के तीमारदारों के  लिए  ठंडे पानी की व्यवस्था तथा मरीजों को वार्ड तक ले जाने व लाने के लिए स्ट्रेचर और व्हील चेयर उपलब्ध करायीं। आज ही यहां मरीजों के तीमारदारों के लिए तैयार किये गये रैन बसेरा का भी उद्घाटन हुआ। केजीएमयू परिसर के डेंटल संकाय के पुराने भवन के सामने बनी कैंटीन की जगह को केजीएमयू प्रशासन द्वारा रैन बसेरे में तब्दील कर दिया गया है।

तीमारदारों को मिला एक और रैनबसेरा, लालजी टंडन ने किया उद्घाटन

रैनबसेरा का उद्घाटन पूर्व मंत्री लालजी टंडन ने करते हुए कहा कि धन्वन्तरि केंद्र ने मरीजों और तीमारदारों की मदद के लिए अपना संकल्प पूरा किया अब इनको व्यवस्थित रखने की जिम्मेदारी केजीएमयू प्रशासन की है जिससे सहायता का उद्देश्य पूरा होता रहे।
इस मौके पर उपस्थित उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्री बृजेश पाठक ने कहा कि लालजी टंडन हमेशा से लखनऊ को विकसित करने के बारे में सोचते रहे हैं और विशेषकर केजएमयू पर उनका स्नेह हमेशा से बना रहता है।

इसी तरह होती है नरसेवा-नारायण सेवा : कुलपति

इस अवसर पर कुलपति प्रो एमएलबी भट्ट ने कहा कि बड़ी खुशी की बात है कि आज भी एक तबका ऐसा है जो इस तरह के सामाजिक कार्यों के बारे में सोचता है। उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम का उद्देश्य नर सेवा नारायण सेवा के सिद्धांत पर आधारित है। उन्होंने कहा कि इस तरह की सेवा ही परमार्थ की सेवा होती है।
इस अवसर पर उपस्थित पूर्व न्यायाधीश रघुनाथ किशोर रस्तोगी ने कहा कि चिकित्सकों को मरीजों से स्नेहपूर्वक व्यवहार करना चाहिये क्योंकि इसी से मरीजों का आधा उपचार हो जाता है।
कार्यक्रम में धन्वन्तरि केंद्र के अध्यक्ष प्रो सूर्यकांत ने कहा कि धन्वन्तरि भी एक चिकित्सक थे। उन्होंने बताया कि समाज के विभिन्न वर्गों के लोगों ने 25 स्ट्रेचर, 35 व्हील चेयर, एक वाटर कूलर तथा 12 पंखे केजीएमयू को प्रदान किये हैं।
कार्यक्रम में प्रो नरसिंह वर्मा, प्रो एके त्रिपाठी, प्रो एसएन संखवार, प्रो संदीप तिवारी, प्रो विजय कुमार, प्रो विभा सिंह समेत चिकित्सा विश्व विद्यालय के विभिन्न विभागों के चिकित्सक उपस्थित थे। साथ ही धन्वन्तरि केंद्र के दुर्गा शंकर बाजपेई, ओम प्रकार पाण्डेय, अवधेश नारायण तथा समाजसेवी प्रशांत भाटिया भी कार्यक्रम में उपस्थित रहे।