Saturday , May 7 2022

ये रातें, ये मौसम, नदी का किनारा…ने ठंड में भी गुनगुनाहट ला दी

-स्‍टेथोस्‍कोप पकड़ने वालों ने माइक पकड़कर ऐसा समां बांधा कि लोग मुग्‍ध हो गये
-लोकबन्धु राजनारायण संयुक्त चिकित्सालय का 10वां स्थापना दिवस मनाया गया

सेहत टाइम्‍स ब्‍यूरो

लखनऊ। ये रातें, ये मौसम, नदी का किनारा, ये चंचल हवा… जी नहीं, इन पंक्तियों को लिखकर इस कड़कड़ाती ठंड में हमें आपको ठंडक का अहसास कराने का कोई इरादा नहीं है, बल्कि इन पंक्तियों ने तो इस ठंड में भी माहौल में गुनगुनाहट ला दी। ‘दिल्‍ली का ठग’ फि‍ल्‍म में किशोर कुमार और आशा भोसले की आवाज में गाया गया यह गीत जब डॉ संध्‍या सिंह ने स्‍टेथोस्‍कोप पकड़ने वाले हाथों ने माइक पकड़ कर गाया तो वातावरण में समां बंध गया।

मौका था लोकबन्धु राजनारायण संयुक्त चिकित्सालय के 10वें स्थापना दिवस समारोह का। डॉ संध्‍या सिंह के अलावा अस्‍पताल के निदेशक डॉ डीएस नेगी ने आने वाला कल, जाने वाला है…गीत से समां बांधा, सीएमएस डॉ.अमिता यादव ने हमको मन की शक्ति देना…को सुरो में पिरोया। इसके अलावा जीवन चलने का नाम, चलते रहो सुबह शाम…गीत को सुरों में पिरोकर डॉ.पियूष तिवारी ने ऐसा माहौल बनाया कि लोग झूम उठे। कई अन्‍य चिकित्सकों ने भी अपने-अपने सुरों से लोगों को आनन्दित किया।

समारोह में कर्मचारी की प्रतिभावान पुत्री पाखी ने मनमोहक नृत्य प्रस्तुत कर लोंगों को वाह-वाह करने पर मजबूर कर दिया। इस अवसर पर अस्पताल परिसर में वृक्षारोपण भी किया गया।

इस मौके पर निदेशक डॉ.नेगी ने, अस्पताल के चिकित्सक और कर्मचारियों को लगन से कर्तव्य का अनुपालन करने का बोध कराते हुये, अस्पताल में बेहतरीन कार्य करने वाले 25 कर्मचारियों को सम्मानित किया। सीएमएस डॉ.अमिता यादव, एमएस डॉ.पीएन अहिरवार ने भी चिकित्सक और कर्मचारियों से सहयोग की अपील करते हुये, मरीजों की अपेक्षाओं के अनुरूप बनने की उम्मीद जताई। इस अवसर पर डफरिन अस्पताल की प्रमुख अधीक्षक डॉ.नीरा जैन, झलकारी बाई अस्‍पताल की डॉ.सुधा वर्मा, सिविल अस्पताल के सीएमएस डॉ.एके सिंह, एमएस डॉ.आशुतोष कुमार दुबे, भाऊराव देवरस के सीएमएस डॉ.आरपी सिंह समेत अस्पताल के चिकित्सक व कर्मचारी आदि मौजूद रहे।