अगर कहीं न मिले ठिकाना तो हेल्थ सिटी आना

लखनऊ। दिन का उजाला हो या फिर रात का अंधेरा, समय कोई भी हो, २४ घंटे चिकित्सा की विभिन्न सुपर स्पेशियलिटी से युक्त विशेषज्ञों की सुविधा एक छत के नीचे देने की कोशिश सफलता के पायदान चढ़ रही है। सरकारी अस्पतालों यहां तक कि केेजीएमयू स्थित ट्रॉमा सेंटर से वापस किये जाने वाले मरीजों को गंभीर बीमारियों की चिकित्सा की सुविधा उपलब्ध है, क्योंकि हेड इंजरी जैसी गंभीर स्थिति में तुरंत इलाज का महत्व कई गुना बढ़ जाता है। यह कहना है यहां गोमती नगर स्थित हेल्थ सिटी ट्रॉमा सेंटर एंड सुपरस्पेशियलिटी हॉस्पिटल का।
अस्पताल की स्थापना के एक वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में शुक्रवार २० जनवरी को एक समारोह का आयोजन किया जा रहा है। इस अवसर पर उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक अस्पताल में मल्टीस्लाइस सीटी स्कैन की सुविधा का शुभारम्भ करेंगे। आज आयोजित एक पत्रकार वार्ता में उक्त जानकारी देते हुए अस्पताल के निदेशक मंडल में शामिल चिकित्सकों ने बताया कि हमारे अगले चरण में अस्पताल में कम्पोनेंट सेपरेटर सुविधा सहित ब्लड बैंक की सुविधा, बर्न यूनिट, नियोनेटल आईसीयू, डायलिसिस जैसी सुविधाएं उपलब्ध रहेंगी। वर्तमान समय में अस्पताल में ऑर्थोपेडिक्स एंड ज्वॉइंट रिप्लेसमेंट सर्जरी, जनरल एंड मिनिमल ऐक्सेस सर्जरी, प्लास्टिक, माइक्रोवेस्कुलर, कॉस्मेटिक एंड क्रेनियो-फेशियल सर्जरी, यूरो सर्जरी, ऐनेस्थीसियोलॉजी एंड क्रिटिकल केयर मेडिसिन, कार्डियोलॉजी, कान, नाक व गला, जनरल मेडिसिन, पल्मोनरी मेडिसिन, ऑब्सटेट्रिक्स एंड गायनोकोलॉजी, रेडियोलॉजी, पैथोलॉजी एंड माइक्रोबायोलॉजी की सुविधा विशेषज्ञों की देखरेख में की जा रही है। वार्ता में अस्पताल के निदेशक डॉ वैभव खन्ना ने बताया कि हमारा अस्पताल मुख्यमंत्री कोष से इलाज करने के लिए पंजीकृत है और इससे अनेक मरीजों ने लाभ उठाया है। एक अन्य निदेशक सुपरस्पेशियलिस्ट डॉ संदीप कपूर ने बताया कि मरीज की जरूरत के अनुसार हम लोग दिन और रात पूरी टीम के साथ उपलब्ध रहते हैं। पत्रकार वार्र्ता में डॉ सुनील बिसेन, डॉ हिमांशु बिष्ट, डॉ केके सिंह, डॉ के बी जैन, डॉ संदीप गर्ग ने भी कई जानकारियां दीं।
………………………